Home » आईपीएल » IPL 2020: Royal Challengers Bangalore Weakness, Strength, Probable Playing XI
 

IPL 2020: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की संभावित प्लेइंग इलेवन, टीम की ताकत और कमजोरी पर एक नजर

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 September 2020, 22:29 IST

विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर (Royal Challengers Bangalore) 21 सितंबर को आईपीएल 2020 का अपना पहला मुकाबला सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलेगी, तो फैंस और फ्रेंचाइजी के दिमाग में यह सवाल जरूर रहेगा कि क्या टीम का हाल वैसे ही रहेगा जैसा बीते कुछ सीजन में हुआ है या फिर इस बार कुछ बदलेगा.

साल 2008 में आईपीएल के पहले सीजन में पाइंट टेबल में आखिरी पायदान पर रहने वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर ने अगले सीजन में धमाकेदार वापसी तो की और फाइनल तक पहुंची, लेकिन फाइनल में उसे डेक्कन चार्जर्स से 6 रन से हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद टीम 2011 के सीजन में दूसरी बार टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची, लेकिन वो खिताब जीतने से चूक गई.


रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर 2016 में लीग के फाइनल में पहुंचने में सफल हो पाई थी, लेकिन नतीजा वही रहा, जो पहले था, हार. इस हार के साथ ही टीम का आईपीएल खिताब जीतने का सपना-सपना ही रह गया था. ऐसे में टीम इस साल इस आईपीएल का खिताब अपने नाम करने की कोशिश करेगी.

साल 2017 में टीम से क्रिस गेल के जाने के बाद से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर विराट कोहली और एबी डीविलियर्स पर अत्याधिक निर्भर हो गई थी, ऐसे में एरोन फिंच के आने से इन दोनों बल्लेबाजों पर दवाब जरूर कम होगा. दूसरी तरफ रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की गेंदबाजी उसके लिए हमेशा से समस्या रही है, ऐसे में क्रिस मॉरिस के आने से टीम को थोड़ा फायदा तो जरूर हो सकता है.

टीम की मजबूती

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की मजबूती उसके बल्लेबाजी रही है और जब उसकी बल्लेबाजी लड़खड़ाती है तो उसे उसका नुकसान उठाना पड़ता है. एरोन फिंच के आने से टीम को एक विस्फोटक सलामी बल्लेबाज की कमी नहीं खलेगी. विराट कोहली ऐसे में नंबर तीन पर बल्लेबाजी कर सकते हैं. जबकि डिविलियर्स नंबर चार पर बल्लेबाजी करते नजर आ सकते हैं.

मोइन, दूबे और मॉरिस के आने के बाद टीम का मध्यक्रम दूसरी टीमों की तुलना में काफी मजबूत नजर आ रहा है. कलाई के स्पिन गेंदबाजों का सामना करने के लिए टीम के पास बांए हाथ के बल्लेबाज हैं. नवदीप सैनी टीम को डेथ ओवर में मजबूती दे सकते हैं तो डेल स्टेन और उमेश यादव विरोधी टीम को पावर प्ले में झटके दे सकते हैं. टीम के पास चहल, ज़म्पा जैसे स्पिन गेंदबाज जबकि सुंदर और मोईन बाएं हाथ के बल्लेबाजों के सामने समस्या खड़ी कर सकते हैं.

टीम की कमजोरी

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की कमजोरी उसकी गेंदबाजी है और वो भी डेथ ओवर्स में. आरसीबी के गेंदबाज डेथ ओवर्स में खूब रन लूटाते हैं, जो टीम की सबसे बड़ी समस्या है. ऐसे में टीम क्रिस मॉरिस पर अधिक निर्भर रह सकती है, जो एक समस्या ही होगी. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर शुरूआती पावर प्ले में विरोधी टीम को नुकसान पहुंचाने में सफल नहीं हो पाई है, ऐसे में जब बल्लेबाज सेट हो जाता है तो वो मध्य ओवरों में काफी आक्रमता से रन बनाता है.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर की संभवित प्लेइंग इलेवन: आरोन फिंच, देवदत्त पडिक्कल/पार्थिव पटेल, विराट कोहली, एबी डीविलियर्स, मोइन अली, शिवम दुबे, क्रिस मॉरिस, वाशिंगटन सुंदर, उमेश यादव, नवदीप सैनी, युजवेंद्र चहल

IPL 2020: एबी डिविलियर्स ने सात बार किया है ये बड़ा कारनामा, कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं कर पाया है ऐसा

IPL 2020: प्रैक्टिस के दौरान नहीं देखा होगा विराट कोहली का ऐसा अंदाज, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो

First published: 16 September 2020, 22:24 IST
 
अगली कहानी