Home » जम्मू-कश्मीर » Amarnath Yatra: Prayers at Amarnath Shrine's holy cave on the first day of Amarnath Yatra
 

पवित्र गुफा में 'बाबा बर्फानी' का पहला दर्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2017, 15:42 IST
अमरनाथ धाम में पवित्र गुफा के अंदर बाबा बर्फानी का पहला दर्शन/ एएनआई

अमरनाथ यात्रा के पहले दिन अमरनाथ धाम में स्थित पवित्र गुफा में श्रद्धालुओं ने दर्शन किए. प्राकृतिक शिवलिंग के दर्शन के लिए बाबा बर्फानी के भक्त काफ़ी उत्साह में दिखे. आतंकी ख़तरे को देखते हुए इस बार यात्रा के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं.

बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा भी पहुंचे. उन्होंने पवित्र गुफा में पूजा-अर्चना की. इसके साथ ही अमरनाथ यात्रा की विधिवत शुरुआत हो गई है. श्रद्धालु पहलगाम और बालटाल के रास्ते पवित्र गुफा के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. सेना और सुरक्षा बलों की कड़ी निगरानी में बुधवार को अमरनाथ यात्रा का आगाज हुआ.

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा ने पवित्र गुफा में पूजा की.

बुरहान की बरसी बड़ी चुनौती

इस बार सुरक्षा एजेंसियों के लिए अमरनाथ यात्रा बिना किसी विघ्न-बाधा के संपन्न कराना बड़ी चुनौती है. इस साल यात्रा के बीच बुरहान वानी की पहली बरसी की वजह से भी आतंकी हमले की आशंका जताई जा रही है.

पिछले साल 8 जुलाई को सेना ने एनकाउंटर के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को मार गिराया था. ऐसे में इस बार भी 8 जुलाई की तारीख काफी अहम है. बदले की फिराक में बैठे आतंकी अमरनाथ श्रद्धालुओं को निशाना बना सकते हैं. लिहाजा बेस कैंप के साथ ही यात्रा के रूट पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है. 

40 हजार सुरक्षा बल तैनात

पुलिस महानिरीक्षक मुनीर खान ने सेना, सीआरपीएफ और राज्य के कई डीआईजी को लेटर लिखकर कहा है, "एसएसपी अनंतनाग से मिले खुफिया इनपुट के मुताबिक आतंकवादियों को 100 से 150 श्रद्धालुओं और करीब 100 पुलिस अधिकारियों की हत्या करने के लिए कहा गया है."

पुलिस, सेना, बीएसएफ और सीआरपीएफ को मिलाकर जम्मू-कश्मीर में 35,000 से 40,000 सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है. सीआरपीएफ के विशेष महानिदेशक एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि इस यात्रा को किसी भी घटना से बचाने के लिए सबसे बड़ा सुरक्षा तंत्र स्थापित किया गया है.

अमरनाथ यात्रा के पहले दिन पवित्र गुफा में दर्शन-पूजन करते श्रद्धालु.
First published: 29 June 2017, 15:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी