Home » जम्मू-कश्मीर » Army orders court of inquiry against Major Nitin Leetul Gogoi after detained by Jammu and Kashmir police at hotel
 

मेजर लीतुल गोगोई करेंगे कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का सामना, आर्मी ने दिए आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 May 2018, 18:50 IST

भारतीय सेना के मेजर लीतुल गोगोई के खिलाफ इंडियन आर्मी ने कोर्ट ऑफ  इन्क्वायरी के आदेश दिए हैं. शुक्रवार को सेना ने आर्मी चीफ के दिए गए बयान के बाद ये आदेश दिए. मेजर गोगोई के खिलाफ कोई एक्शन जांच में आई सच्चाई के बाद लिया जाएगा. ये बात आर्मी के अधिकारियों नें कही.

ये भी पढ़ें-सेना की जीप में बांधे गए युवक ने कहा- मैंने जीवन में कभी पत्थरबाज़ी नहीं की

इससे थोड़ी देर पहले आर्मी चीफ बिपिन रावत ने पहलगाम में मीडिया से बातचीत में कहा कि अगर वो दोषी साबित होते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. आर्मी चीफ बिपिन रावत आरमी गुडविल स्कूल के दौरे पर आए थे.

बिपि रावत ने कहा, "आर्मी में किसी भी रैंक किसी भी पोस्ट का कोई भी अधिकारी हो अगर गलत करता पाया जाता है तो उसे कड़ी सी कड़ी सजा दी जाएगी. यदि मेजर गोगोई ने कुछ गलत किया है तो मैं कह सकता हूं कि उन्हें सजा मिलना निश्चित है और ये सजा एक उदाहरण के तौर पर याद की जाएगी."

सेना के अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस पहले से ही इस मामले की जांच कर रही है. 23 मई को बड़गाम की रहने वाली युवती को मेजर गोगोई और उनके ड्राइवर के साथ पुलिस ने हिरासत में लिया था. ये घटना तब घटी जब श्रीनगर के होटल स्टॉफ ने गोगोई को लड़की के साथ होटल में एंट्री देने से मना कर दिया.

गोगोई सेना से छुट्टी लेकर अपने घर गए थे. घर से वापसी के बाद उन पर आरोप है कि उन्होंने श्रीनगर में होटल बुक करवाया. गोगोई पिछले साल तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने सेना की जीप से बांधकर एक स्थानीय युवक को मानव ढ़ाल की तरह इस्तेमाल किया था. उन्होंने पत्थरबाजों से निपटने के लिए ये किया था. 

ये भी पढ़ें-मेजर गोगोई के साथ होटल में पकड़ी गई युवती की मां का खुलासा- आधी रात को घर में मारा छापा

First published: 25 May 2018, 18:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी