Home » जम्मू-कश्मीर » We are not yet confirmed about the number of causalities on the other side, but approx 15 Pak army men have died: Arun Kumar ADG BSF
 

बीएसएफ का दावा- 15 पाकिस्तानी जवान जवाबी फायरिंग में ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 October 2016, 14:48 IST
(फाइल फोटो)

पाकिस्तान लगातार एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भारी गोलाबारी कर रहा है. रोज उसकी तरफ से संघर्ष विराम का उल्लंघन हो रहा है. इस बीच सीमा सुरक्षा बल ने दावा किया है कि उसकी जवाबी कार्रवाई में 15 पाकिस्तानी जवान मारे गए हैं.

बीएसएफ के एडीजी अरुण कुमार ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया, "दूसरी तरफ के हताहतों की संख्या के बारे में हम पुष्टि नहीं कर सकते, लेकिन दूसरी तरफ कम से कम 15 पाकिस्तानी रेंजर्स मारे गए हैं."

बीएसएफ के एडीजी ने कहा, "हमारे सुरक्षाबल कभी भी नागरिकों को निशाना नहीं बनाएंगे, लेकिन अगर पाकिस्तान ने पहले हमारे ऊपर फायरिंग की तो उसे निश्चित रूप से जवाब दिया जाएगा."

बीएसएफ के एडीजी अरुण कुमार का कहना है कि पाकिस्तानी एंबुलेंस में घायल जवानों को ले जाते देखा गया. जवाबी फायरिंग में शकरगढ़ में पाक रेंजर्स का चेक पोस्ट भी तबाह हो गया है. वहीं कई घरों में आग लगने की भी खबर है.

पल्लनवाला में नागरिक की मौत

इस बीच जम्मू-कश्मीर के पल्लनवाला सेक्टर में पाकिस्तान ने युद्धविराम तोड़ा है. पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग में यहां एक नागरिक की मौत हो गई.

पाकिस्तानी जवानों ने शुक्रवार को भी सीजफायर का उल्लंघन करते हुए जम्मू, कठुआ और राजौरी में एलओसी और इंटरनेशनल बॉर्डर पर भारी फायरिंग की. सुंदरबनी, पल्लनवाला और नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग हुई है, जिसमें 82 और 120 मिमी के मोर्टार का इस्तेमाल किया गया. 

भारत के चार जवान शहीद

बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है, "गुरुवार शाम पांच बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी रेंजरों ने बिना किसी उकसावे के कठुवा सेक्टर में भारी फायरिंग की. हीरानगर और सांबा में भी भारतीय चौकियों को निशाना बनाया गया. शुक्रवार सुबह पांच बजे तक 24 बीएसएफ चौकियों के इलाके में फायरिंग हुई." 

पढ़ें: एलओसी-बॉर्डर पर भारी फायरिंग, कई पाक रेंजर्स जख्मी, पाक इलाके के गांवों में लगी आग

इस बीच 29 सितंबर को एलओसी के पार भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से संघर्षविराम उल्लंघन के मामलों में तेजी आई है. अब तक चार भारतीय जवान शहीद हो चुके हैं, जबकि दो नागरिकों को भी अपनी जान गंवानी पड़ी है.

इससे पहले बीएसएफ ने दावा किया था कि 21 अक्तूबर को सात पाकिस्तानी रेंजर्स और एक आतंकी को कठुआ के हीरानगर सेक्टर में मार गिराया गया था. घुसपैठ की कोशिश नाकाम करते वक्त जख्मी बीएसएफ जवान गुरनाम सिंह इस दौरान शहीद हो गए थे.

पाक अखबार डॉन का दावा

पाकिस्तान के अखबार डॉन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारतीय सुरक्षाबलों की फायरिंग में कोटली सेक्टर में एक शख्स की मौत हुई है, जबकि दो बच्चों समेत चार लोग जख्मी हुए हैं.

डॉन के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ की फायरिंग में चपरार सेक्टर में दो ग्रामीणों की मौत हो गई, जबकि आठ लोग घायल हुए हैं.

डॉन के मुताबिक सोमवार से हुई फायरिंग में एक बच्चे समेत चार लोगों की मौत हुई है, जबकि 26 ग्रामीण जख्मी हैं. डॉन ने सेना सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि पांच भारतीय सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में मौत हुई है, जबकि भीमबेर सेक्टर में चार भारतीय पोस्ट को नुकसान पहुंचा है.

First published: 28 October 2016, 14:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी