Home » जम्मू-कश्मीर » BSF ordered an inquiry into the allegations of the BSF jawan's video of bad food quality
 

वायरल वीडियो: BSF ने दिया जांच का आदेश, जवान के सेवाकाल को बताया दाग़दार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2017, 13:00 IST

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान तेज बहादुर के वायरल वीडियो के मामले ने तूल पकड़ लिया है. जवान ने अपने आठ मिनट के वीडियो में अधिकारियों पर घटिया क्वालिटी का खाना मुहैया कराने का आरोप लगाया था. अब इस मामले में बीएसएफ की तरफ से सफाई सामने आई है. 

बीएसएफ के डीआईजी एमडीएस मान ने कहा है, "हमने बीएसएफ जवान के वीडियो में लगाए गए आरोपों की जांच करने का आदेश दे दिया है." हालांकि बीएसएफ के डीआईजी ने जवान के अब तक के सेवाकाल को दागदार बताया है. 

'20 साल में 4 बुरी एंट्री'

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में बीएसएफ के डीआईजी ने कहा, "तेज बहादुर के 20 साल के सेवा काल में चार बुरी एंट्री है. इसलिए उसका प्रमोशन नहीं हो सका है. उसकी कुंठा की यह वजह हो सकती है." 

पढ़ें: वायरल वीडियो: आरोपों पर कायम BSF जवान ने कहा- क्या जनता को सच दिखाना ग़लत?

इसके साथ ही बीएसएफ के डीआईजी ने आरोप सही पाए जाने पर सख्त कार्रवाई का भरोसा दिया है, "अगर उसके लगाए गए एक भी आरोप सही पाए जाते हैं, तो हम निश्चित तौर पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करेंगे."

जवान का वीडियो वायरल

जम्मू में इंटरनेशनल बॉर्डर के पास तैनात बीएसएफ जवान तेज बहादुर वीडियो में कहते हैं, "देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं. हम लोग सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं. कितना भी बर्फ हो, बारिश हो, तूफान हो, इन्‍हीं हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं." 

बीएसएफ जवान ने वीडियो पोस्ट करते हुए अपील की है कि उसके दर्द को देश समझे. जवान का आरोप है कि बीएसएफ जवानों को घटिया खाना दिया जा रहा है. तेज बहादुर का आरोप है कि अफसर राशन को बाजार में बेच देते हैं.  

गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

जवान ने वीडियो पोस्ट करते हुए पीएम मोदी से अपील की कि वो पूरे मामले की जांच कराएं. केंद्र सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच का आदेश दिया. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "मैंने बीएसएफ जवान का वीडियो देखा है. मैंने गृह सचिव को आदेश दिया है कि बीएसएफ से तत्काल रिपोर्ट तलब की जाए और जरूरी कार्रवाई हो." 

जवान के वीडियो पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने भी कहा कि मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि सीमा पर नियमित यात्रा के दौरान उन्होंने जवानों के बीच सब कुछ ठीक पाया था.

First published: 10 January 2017, 13:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी