Home » जम्मू-कश्मीर » burhan friend hizbul commander safzar bhat killed by indian army.
 

बुरहान के दोस्त सबज़ार ने सोशल मीडिया को बनाया आतंक का औज़ार

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 May 2017, 17:17 IST
सबज़ार अहमद भट और बुरहान वानी/ फेसबुक

कश्मीर घाटी में चरमपंथी प्रोपगैंडा के प्रचार के मकसद से सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने के पीछे हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर सबजार का दिमाग माना जाता है. सबजार अहमद बट को सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर के त्राल में मुठभेड़ के दौरान मार गिराया है. 

सबजार पिछले साल जुलाई में मारे गए हिजबुल कमांडर बुरहान वानी का साथी था. उसे वानी के बाद हिजबुल का कमांडर बनाया गया था. सोशल मीडिया पर बुरहान के साथ सबजार की तस्वीरें सामने आई थीं. बुरहान वानी की 11 आतंकियों के साथ एक फोटो वायरल हुई थी. बताया जाता है कि ये फोटो सोशल मीडिया में सबज़ार ने ही पोस्ट की थी.

सबज़ार ने त्राल के गर्वमेंट कॉलेज से कम्प्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी. उसके पिता का नाम गुलाम हसन बट था. सबजार के आतंकी बनने के बाद से ही आतंकियों ने अपने मुंह छिपाए बिना सोशल मीडिया में वीडियो और तस्वीरें पोस्ट करना शुरू किया था. 

हाल ही में दक्षिण कश्मीर में हिजबुल के आतंकियों का एक वीडियो काफी वायरल हुआ था. इस वीडियो में कई युवा हाथों में हथियार लेकर एक साथ नज़र आए थे. इसके साथ ही बिरयानी खाते हुए एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर चर्चित हुआ था.

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्यार में धोखा खाने के बाद सबजार बट आतंक की राह पर चल पड़ा था. साल 2015 में बुरहान के भाई खालिद की मौत के बाद वह हिजबुल में शामिल हुआ था. जुलाई 2016 में सेना के साथ मुठभेड़ के दौरान बुरहान वानी की मौत के बाद सबजार को कमांडर बनाते हुए हिजबुल ने दक्षिण कश्मीर में आतंकी हमले तेज़ करने की उसे जिम्मेदारी दी थी.

First published: 27 May 2017, 16:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी