Home » जम्मू-कश्मीर » first batch of Amarnath Yatris has been flagged off from jammu base camp for Amaranath Yatra
 

बम-बम भोले के जयकारों के साथ अमरनाथ यात्रा शुरू, आतंकियों से निपटने के पुख्ता इंतजाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 June 2018, 10:05 IST

40 हजार सुरक्षाकर्मियों द्वारा की गई कड़ी सुरक्षा के बीच बम-बम भोले के जयकारों के साथ अमरनाथ यात्रा आज (बुधवार) से शुरू हो गई है. जम्मू के भगवती नगर आधार शिविर से अमरनाथ की यात्रा पर जाने वाले यात्रियों का पहला जत्था श्रीनगर के लिए रवाना हो गया है. पहला जत्था कल(गुरुवार) बाबा बर्फानी की गुफा में स्थित पवित्र शिव लिंग के दर्शन करेगा.

पत्थरबाज़ी और आतंकी गतिविधियों के बीच अमरनाथ यात्रियों को बाबा भोलेनाथ के दर्शनों का इंतजार था जो अब सुरक्षाकर्मियों की मदद से खत्म किया जा रहा है. इस बीच खास बात ये है कि तमाम श्रद्धालु बम-बम भोले के जयकारों के साथ हाथ में तिरंगा लेकर श्रीनगर के लिए रवाना हुए हैं.

आपको बता दें कश्मीर में बढ़ते तनाव के बीच इस बार अमरनाथ यात्रा में सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ा दी गई है. साथ ही ड्रोन और मोटर साइकल स्क्वॉड भी अमरनाथ यात्रियों के लिए तैनात कर दी गई है. मोटर साइकल स्क्वॉड में आधुनिक उपकरणों से लैस सीआरपीएफ के जवान तैनात किए गए हैं जो किसी आपातकालीन स्थिति में तुरंत ऐक्शन ले सकते हैं.

इस बार अमरनाथ यात्रा पर गए श्रद्धालुओं का कहना है कि हम बहुत खुश हैं. अब हम किसी से डरते नहीं हैं. हमारी सेना हमारी सुरक्षा कर रही है तो हम लोगों को डर किस बात का. आपको बता दें देशभर से करीब दो लाख श्रद्धालु दक्षिण कश्मीर हिमालय स्थित अमरनाथ गुफा की यात्रा के लिए जाने वाले हैं.

 

सुरक्षा अधिकारियों ने कहा है कि अभी तक 1.96 लाख तीर्थयात्रियों ने अमरनाथ यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है. पहली बार इस बार अमरनाथ जाने वाले वाहनों में रेडियो फ्रीक्वेंसी टैग का इस्तेमाल किया जाएगा और सीआरपीएफ का मोटरसाइकिल दस्ता भी सक्रिय रहेगा.

ये भी पढ़ेंः दिल्ली-एनसीआर: लंबे इंतजार के बाद मेहरबान हुए बादल, बारिश ने चिलचिलाती गर्मी से दी बड़ी राहत

आधार शिवरों, मंदिरों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड्स और अन्य भीड़भाड़ वाले स्थानों के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. इस साल केंद्र सरकार ने अमरनाथ यात्रियों के प्रत्येक वाहन की निगरानी रेडियो फ्रीक्वेंसी टैग से करने का निर्णय लिया है, जो कि सुरक्षा की दृष्टि से बहुत अच्छा है.

First published: 27 June 2018, 10:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी