Home » जम्मू-कश्मीर » Hijbul terrorist attends funeral of a slain terrorist
 

आतंकवादी के अंतिम संस्कार में हथियार के साथ पहुंचा हिजबुल सदस्य

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 July 2017, 10:14 IST

दक्षिणी कश्मीर में शनिवार को हिजबुल मुजाहिदीन का एक वांछित आतंकवादी अपने एक साथी आतंकवादी के अंतिम संस्कार में शामिल हुआ. इतना ही नहीं एके-47 लटकाए इस वांछित आतंकवादी ने अंतिम संस्कार के दौरान भाषण भी दिया, जिसमें उसने कहा कि वैश्विक आतंकवादी संगठन अल-कायदा को कश्मीर के साथ जोड़ना उनके आंदोलन को बदनाम करना है.

बाएं कंधे पर एके-47 लटकाए रियाज अहमद नाइकू ने अंतिम संस्कार में शामिल रहे लोगों के सामने करीब 20 मिनट तक भाषण दिया. अपने भाषण में उसने कहा कि कश्मीर में अल कायदा इकाई गठित करने से जुड़ा हालिया वक्तव्य 'कश्मीर वासियों की आजादी की लड़ाई को बदनाम करने के उद्देश्य से दिया गया और यह लड़ाई देश के अंदर पनपा घरेलू संघर्ष है'.

हालांकि रियाज ने अपने भाषण में हिजबुल के अपने पूर्व साथी जाकिर मूसा का जिक्र नहीं किया, जिसे कश्मीर में अल कायदा इकाई का मुखिया बनाया गया है. उसने कहा कि इस्लाम का झंडा थामने वाला हर व्यक्ति जरूरी नहीं कि हमारा आदमी हो. आतंकवादी ने कहा, "हमारे संघर्ष को अल कायदा या इस्लामिक स्टेट से जोड़ना हमें बदनाम करने की साजिश है."

हालांकि अंतिम संस्कार के दौरान पाकिस्तान समर्थक नारे लगाए गए. अंतिम संस्कार में उपस्थित रहने के दौरान ली गई नाइकू की तस्वीरें सोशल नेटवर्क पर तेजी से वायरल हुई हैं. नाइकू अपने साथी आतंकवादी शारिक अहमद के अंतिम संस्कार में शामिल होने आया था, जिसे पुलवामा जिले के तहाब गांव में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था.

First published: 31 July 2017, 10:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी