Home » जम्मू-कश्मीर » J&K: Indian army killed 2 pakistan BAT terrorists in uri sector
 

उरी: पाक BAT के दो हमलावरों को भारतीय सेना ने मार गिराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 May 2017, 16:27 IST
फाइल फोटो

जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय गश्ती दल पर पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) ने हमला कर दिया. जिसके बाद भारतीय सैनिकों ने बैट हमलावरों को करारा जवाब दिया है. सेना ने दावा किया है कि जवाबी कार्रवाई में उसने बैट टीम के दो आतंकियों को ढेर कर दिया है.

सेना के मुताबिक इलाके में सर्च ऑपरेशन अब भी जारी है. बताया जा रहा है कि खुफिया एजेंसियों ने सेना को बैट के हमले की प्लानिंग की पहले ही जानकारी दी थी, जिसके मद्देनजर सुरक्षा बलों ने भी नियंत्रण रेखा के पास चौकसी बढ़ा रखी थी. पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) को काफी खूंखार माना जाता है. हाल के दिनों में भारतीय जवानों पर बैट ने कई हमलों को अंजाम दिया है.

उरी सेक्टर में BAT का हमला नाकाम

भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्स ने ट्वीट करके कार्रवाई के बारे में जानकारी दी है. सेना ने कहा, "बैट के खिलाफ भारतीय सेना की पेट्रोलिंग टीम ने नियंत्रण रेखा के पास उरी सेक्टर में कार्रवाई की है. हमले को नाकाम कर दिया गया है. बैट के दो आतंकी मारे गए हैं."

हाल के महीनों में पाकिस्तानी सेना के बैट दस्ते से निपटने के लिए सेना ने अब नई योजना बनाई है और उसके नापाक मंसूबों को नाकाम करने के लिए सेना ने स्थानीय कमांडरों को खास निर्देश जारी किए हैं.

इस मामले में सेना की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा के पार पाक कब्जे वाले कश्मीर में 4-5 कैंप सक्रिय हैं. खुफिया जानकारों ने बताया कि नियंत्रण रेखा से 10-15 किलोमीटर अंदर स्थित इन कैंपों में पाक सेना की स्पेशल सर्विस ग्रुप ने पिछले महीने बैट टीम को ट्रेनिंग दी थी. 

उरी हमले के बाद हुई थी सर्जिकल स्ट्राइक

गौरतलब है कि पाकिस्तानी सेना ने पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में मेंढर सेक्टर में भारी गोलीबारी कर भारतीय सेना के दो जवानों को शहीद कर दिया था. इसके साथ ही पाकिस्तानी सेना के मुजाहिद लड़ाकों ने भारतीय सीमा में घुसकर भारतीय जवानों के शव क्षत-विक्षत कर दिए थे.

उरी में पिछले साल सेना के मुख्यालय पर आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हुए थे. इसके बाद भारत ने 29 सितंबर को नियंत्रण रेखा पार करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक की थी. 

First published: 26 May 2017, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी