Home » जम्मू-कश्मीर » J&K National Conference will not participate in panchayat elections Article 35
 

फारूक अब्दुल्ला की 35 ए पर धमकी, केंद्र ने रुख स्पष्ट नहीं किया तो पंचायत चुनाव का करेंगे बहिष्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 September 2018, 16:47 IST

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बुधवार को कहा कि वह जम्मू-कश्मीर में आने वाले स्थानीय निकाय चुनावों में भाग नहीं लेगा जब तक कि सरकार संविधान के अनुच्छेद 35 ए पर अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं करती है. पार्टी ने केंद्र और राज्य सरकार से अनुच्छेद 35 ए की सुरक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाने का आग्रह किया. पार्टी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुख्य समूह ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया.

1954 में भारतीय संविधान में शामिल आर्टिकल, जम्मू-कश्मीर के नागरिकों को विशेष अधिकार और विशेषाधिकार प्रदान करता है. आर्टिकल की वैधता को चुनौती देने वाली सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है. अदालत ने जनवरी 2019 तक इसपर सुनवाई स्थगित कर दी थी.

 

केंद्र से अपना स्टैंड स्पष्ट करने के लिए कहत हुए पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा "अदालत में कार्यवाही में देरी के लिए पंचायत और नगरपालिका चुनावों आधार बनाना पर्याप्त नहीं है."

इस साल जून से जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन है. राज्य 1 अक्टूबर से 2011 के बाद से अपने पहले स्थानीय निकाय चुनाव आयोजित करने के लिए तैयार है. नगरपालिका निकायों के लिए चुनाव 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर के बीच चार चरणों में होंगे और पंचायत 8 नवंबर और 4 दिसंबर के बीच आठ चरणों में मतदान करेंगे.

ये भी पढ़ें : रेप पर सख्त हुआ SC, राज्य सरकार पीड़िता को कम से कम 4 लाख का मुआवजा देने को बाध्य

First published: 5 September 2018, 16:47 IST
 
अगली कहानी