Home » जम्मू-कश्मीर » Jammu and Kashmir Legislative Assembly report who will make government in Jammu kashir with alliance
 

जम्मू-कश्मीर: क्या मोदी-शाह को मात देने के लिए महबूबा मुफ्ती को समर्थन देगी कांग्रेस

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 June 2018, 15:01 IST

मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को एक बड़ा झटका दिया है. भाजपा और पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट के गठबंधन वाली महबूबा सरकार से भाजपा ने समर्थन वापस ले लिया है. ऐसे में महबूबा मुफ्ती आज शाम तक इस्तीफा दे सकती हैं.

फिलहाल, साफ तौर पर ये बात सामने नहीं आई है कि क्योंकि दोनों पार्टियों के बीच ये दूरी आई है. लेकिन कहा जा रहा है भाजपा और पीडीपी के बीच सीजफायर को लेकर तनातनी हुई है. बताया जा रहा है कि महबूबा सरकार सीजफायर को खत्म करना चाहती लेकिन भाजपा को ये मंजूर नहीं था.

दिसंबर 2014 में जब जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव हुए तो कोई भी पार्टी बहुमत नहीं हासिल कर पाई थी. इन चुनावों में जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट(पीडीपी) सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. पीडीपी को विधानसभा चुनावों में 28 सीटें प्राप्त हुईं थी, जबकि 89 सीटों (2 नोमिनेटेड) वाले विधानसभा में भाजपा को 25 सीटें प्राप्त हुई थीं.

वहीं, जम्मू एंड कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस को 15 सीटें जबकि कांग्रेस के खाते में कुल 12 सीटें गई थीं. इनके अलावा दो सीटों पर जम्मू-कश्मीर पीपुल्स कॉन्फ्रेंस को 2, कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया 1 और तीन निर्दलीय उम्मीदवारों को जम्मू-कश्मीर की जनता ने अपना नेता (विधायक) चुना था.

आपकी जानकारी के लिए बता दें, जम्मू-कश्मीर में सत्ता में आने के लिए किसी भी पार्टी को जरूरी बहुमत यानी 44 सीटें चाहिए. भाजपा द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद पीडीपी अगर कांग्रेसे के साथ सत्ता में आती है तो भी जरूरी बहुमत के जादुई आंकड़े से 4 सीटें दूर है.

ये भी पढ़ेंः बड़ी खबर: भाजपा ने जम्मू-कश्मीर में गिराई महबूबा सरकार, शाह से मुलाकात के बाद हुआ फैसला

बता दें कि कांग्रेस के पास 12 और पीडीपी के पास 28 सीटें हैं. ऐसे में पीडीपी के पास कुल 40 सीटें हो रही हैं. वहीं अगर पीडीपी को जम्मू एंड कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस या फिर अन्य दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन मिल जाता है तो भी पीडीपी सत्ता में आ सकती है.

First published: 19 June 2018, 14:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी