Home » जम्मू-कश्मीर » Kashmir: Bashir Lashkari LeT terrorist involved in murder of 6 policemen including SHO Feroz Dar gunned down by security forces in an encoun
 

फ़िरोज डार समेत 6 पुलिस वालों की हत्या का ज़िम्मेदार आतंकी बशीर लश्करी ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2017, 15:18 IST
फेसबुक

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है. सुरक्षाबलों ने लश्कर कमांडर बशीर लश्करी को मार गिराया है. सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच डेलगाम इलाके में सुबह 6 बजे से एनकाउंटर चल रहा था.

सुरक्षाबलों के ऑपरेशन के दौरान दक्षिण कश्मीर में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर बशीर लश्करी के अलावा आज़ाद मलिक नाम के एक और आतंकी को ढेर कर दिया गया. 

दो आतंकी और दो नागरिकों की मौत 

इसी महीने एसएचओ फिरोज डार समेत छह पुलिस वालों की बर्बर हत्या में बशीर लश्करी का नाम सामने आया था. तभी से वो सुरक्षाबलों के राडार पर था. फायरिंग के दौरान 2 नागरिकों की भी मौत हुई है, जिसमें एक महिला शामिल है. बताया जा रहा है कि एनकाउंटर के दौरान घर में छिपे लश्करी को बचाने के लिए स्थानीय लोगों ने पथराव भी किया. 

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने बशीर लश्करी के मारे जाने की तस्दीक की है. एसपी वैद ने कहा, "बशीर लश्करी छह पुलिसकर्मियों की शहादत के लिए जिम्मेदार था. कामयाब एनकाउंटर के लिए मैं जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबलों को बधाई देता हूं."

17 नागरिक बचाए गए

शनिवार सुबह अनंतनाग जिले के डेलगाम गांव सुरक्षाबलों ने घेरकर सर्च ऑपरेशन शुरू किया. एक घर में कई आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने घेरा डाला. इस दौरान विस्फोट करके घर के एक हिस्से को उड़ा दिया गया. पुलिस का कहना है कि आतंकियों के कब्जे से 17 नागरिकों को महफूज निकाला गया. 

इससे पहले भी बशीर को पुलिस और राष्ट्रीय रायफल्स ने अनंतनाग जिले के सोफ कोकरनाग गांव में घेरा था, लेकिन वो बच निकला था. सुरक्षाबलों ने शोपियां के 10 गांवों में भी सर्च ऑपरेशन चलाया है.

फेसबुक

कौन है बशीर लश्करी?

बशीर लश्करी दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग के कोकेरनाग इलाके का रहने वाला था. 1999 में वो पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चला गया था. 2012 में राज्य सरकार की आतंकियों के पुनर्वास की योजना के बाद वह कश्मीर घाटी में वापस लौटा था.

2014 तक लश्करी जेल में बंद रहा. 2015 में वह दोबारा आतंकी गतिविधियों में सक्रिय हो गया. पिछले एक साल से वह दक्षिण कश्मीर में काफी सक्रिय था. कुछ पाकिस्तानी लश्कर आतंकी भी उसके साथ बताए जाते हैं. बशीर पर 10 लाख रुपये का इनाम था. 

फेसबुक

डार समेत 6 पुलिसकर्मियों की हत्या

16 जून को अनंतनाग ज़िले के अचबल इलाक़े में बड़ा आतंकी हमला हुआ था. घात लगाकर बैठे 15 आतंकियों ने जीप सवार एक पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू की थी. इस हमले में सब इंस्पेक्टर फिरोज अहमद, कांस्टेबल शारिक अहमद, कांस्टेबल तनवीर अहमद, कांस्टेबल शेराज़ अहमद, कांस्टेबल आसिफ अहमद और कांस्टेबल सबज़ार अहमद शहीद हो गए.

बौखलाए आतंकियों ने हत्या के बाद उनके शवों को भी क्षत-विक्षत कर दिया. इसे लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू को ढेर किए जाने की प्रतिक्रिया माना गया था. पिछले महीेने ही अनंतनाग के अरवनी गांव में सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जुनैद और उसके दो साथियों को एनकाउंटर के दौरान मार गिराया था.

शहीद SHO फिरोज डार
First published: 1 July 2017, 15:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी