Home » जम्मू-कश्मीर » Kashmiri militants killed in encounters ‘martyrs’ saysced pdp mla in outside of assembly
 

'कश्मीर में मारे गए आतंकी हमारे भाई. उनकी मौत का जश्न मनाना गलत'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2018, 12:38 IST

जम्मू कश्मीर विधानसभा के बाहर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी(पीडीपी) के विधायक एजाज अहममद ने जम्मू में विधानसभा के बाहर विवादित बयान .गुरुवार को एजाज अहमद ने आतंकियों के पक्ष में ये विवदित बयान दे डाला,

एजाज अहमद ने कहा, " कश्मीर में मारे गए आतंकी शहीद हैं. वे हमारे भाई हैं. उनमें से कुछ नाबालिग हैं, जो ये भी नहीं जानते कि वे क्या कर रहे हैं." उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए ये बयान पुलिस और सुरक्षाबलों के मुठभेड़ में मारे जाने पर पूछे गए सवाल के जवाब में दिया.

एजाज अहमद ने आगे कहा, " हमें आतंकियों की मौत पर जश्न नहीं मनना चाहिए. ये हमारी सामूहिक विफलता है. हम दुखी होते हैं जब हमारे जवान शहीद होते हैं. हमें जवानों के परिजनों के साथ-साथ आतंकियों के परिवार वालों के साथ भी सहानुभूति होनी चाहिए.

उनका ये बयान बुधवार विधानसभा में उनके इस बयान के बाद आया है, जहां उन्होंने घाटी में आतंकियों की मौत पर खुश होने पर सवाल पूछा था. उन्होंने विधानसभा में कश्मीर मामले को सुलझाने के लिए आतंकियों और अलगाववादियों से बातचीत करने की मांग की थी.

एजाज अहमद पीर पीडीपी की तरफ से शोपिया जिले की वाची विधानसभा का प्रतिनिधित्व करते हैं. जो आतंकियों के अड्डे के रूप में जाना जाता है. गौरतलब है कि तीन महीने पहले आतंकियों ने उनके घर पर ग्रेनेड से हमला किया था. हालांकि इस हमले में किसा को कोई चोट नहीं आई थी.

पीडीपी विधायक के इस बयान पर भाजपा की तरफ से तरफ मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कड़ा एतराज जताया. उन्होने पीडीपी विधायक के बयान पर सवाल उठाते हुए कहा, " आतंकी और अलगाववादी कश्मीर, कश्मीर में विकास और शांति के दुश्मन है. उन्हें कैसे कोई भाई कह सकता है."

गौरतलब है कि सेना ने सुरक्षाबलों के साथ मिलकर आतंकियों के खात्मे के लिए बडा़ ऑपरेशन चलाया था. इस ऑपरेशन में 200 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे. जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस पी वैद्य ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी.

गौरतलब है कि बुधवार को जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को विधानसभा में बोलते हुए राज्य के लोगों से भारत, भारतीय संविधान और कश्मीर के संविधान का आदर करने की अपील की. उन्होंने अपने भाषण में अलगाववादियों पर निशाना साधते हुए कहा था कि कश्मीर को जो भी मिलेगा वह भारत से ही मिलेगा कहीं और से कुछ नहीं मिलेगा. 

First published: 11 January 2018, 12:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी