Home » जम्मू-कश्मीर » Kathua Rape Case 15 year old accused family said that he is afraid of dark
 

कठुआ रेप केस: 15 साल के आरोपी का परिवार बोला, अंधेरे से डरता है हमारा लड़का

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2018, 11:17 IST

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में आठ साल की बच्ची के साथ हुए गैंगरेप ने देश को झकझोर कर रख दिया. इस मामले का एक आरोपी महज 15 साल का है. बताया जा रहा है कि इसी ने मासूम के साथ सबसे ज्यादा बर्बरता दिखाई थी. लेकिन 15 साल के इस आरोपी के परिजन उसे बेगुनाह बता रहे हैं.

आरोपी लड़के के परिजनों का कहना है, कि 'उनका लड़का बहुत दुबला-पतला है और उसे अंधेरे डर लगता है.’ बता दें कि इस 15 साल के लड़के को जुवेनाइल होम में रखा गया है. वहीं लड़के का चाचा और उसका एक 22 साल का कजिन जेल में बंद है.

लड़के के परिजनों का कहना है, कि 'उनका लड़का शैतान है, लेकिन वह किसी का रेप नहीं कर सकता.’ वहीं लड़के की मां कहती है, कि ‘करीब तीन महीने पहले जब कठुआ रेप मामले में पुलिस ने मेरे बेटे को पकड़ा था, उससे ठीक पहले मेरा बेटा और उसके कुछ दोस्तों की कुछ गुर्जर लड़कों से लड़ाई हुई थी. लड़के गुर्जर लड़कों के घर के पास खाना-पीना कर रहे थे, उस वक्त उनकी पिटाई की गई थी. उसके बाद पुलिस में इस मामले की शिकायत की गई थी.’

लड़के की मां कहती है, कि ‘मैं चाहती थी कि मेरा बेटा अनुशासन में रहे, इसलिए मैं उसे पुलिस स्टेशन लेकर गई. पुलिस मेरे इस रोल से काफी प्रभावित हुई थी.’ वहीं मामले के जांचकर्ता बताते हैं, कि गुर्जरों के साथ लड़ाई होने के बाद लड़के के अंदर मुस्लिमों को लेकर नफरत पैदा हो गई थी.

वहीं हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक लड़के के कजिन भाई का कहना है कि वह शराब और सिगरेट का सेवन भी करता था. लड़के का कजिन आगे बताता है कि आज के समय में टाउन के ज्यादातर किशोर लड़के ऐसा करते हैं. वह थोड़ा बदमाश था, लेकिन वह किसी का रेप नहीं कर सकता और न ही किसी को मार सकता है. उसे अंधेरे से डर लगता था.

खबरों के मुताबिक पिछले साल दीवाली से करीब दो दिन बाद उसे स्कूल से भी निकाल दिया गया था. पुलिस के मुताबिक उसके खिलाख ये कदम इसलिए उठाया गया कि उसका व्यवहार लड़कियों के प्रति ठीक नहीं था.

ये भी पढ़ें- उन्‍नाव गैंगरेप केस: 7 दिन की हिरासत पर बोला BJP MLA, मुझे इंसाफ मिलेगा

First published: 15 April 2018, 10:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी