Home » जम्मू-कश्मीर » Injured BSF Jawan Gurnam Singh succumbs to injuries
 

बीएसएफ जवान गुरनाम सिंह शहीद, राज ठाकरे बोले- 5 करोड़ पर चर्चा करने वाले कुछ करेंगे

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2016, 10:48 IST
(ट्विटर)

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ को नाकाम करने के दौरान गोली लगने से जख्मी हुए बीएसएफ जवान गुरनाम सिंह शहीद हो गए हैं. आरएसपुरा सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजर्स ने स्नाइपर हमले में उन्हें निशाना बनाया था.

बीएसएफ की जवाबी फायरिंग में इस दौरान सात पाकिस्तानी रेंजर्स और एक पाक आतंकी ढेर हुआ था. जम्मू के सरकारी मेडिकल कॉलेज में घाल गुरनाम सिंह का इलाज चल रहा था. इससे पहले उन्हें इलाज के लिए दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ले जाने की तैयारी हो रही थी.

26 साल के इस जांबाज ने जम्मू के सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में रात करीब 11:45 बजे अंतिम सांस ली. शुक्रवार सुबह गुरनाम सिंह घायल हुए थे.

19-20 अक्टूबर को गुरनाम ने कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर घुसपैठ के बड़े प्रयास को नाकाम कर दिया था. 

'पाक से जंग चाहिए'

शहीद जवान के पिता कुलबीर सिंह ने कहा, "मेरा बेटा बहादुर था. उसने देश के लिए अपनी जान दे दी. उसकी शहादत से हम सभी खुश हैं. मुझे खुशी है कि मेरा बेटा देश के काम आया. मोदी सरकार से हमारी अपील है कि हमें पाकिस्तान से जंग चाहिए."

गुरनाम सिंह की बहन गुरजीत कौर ने मांग की है कि उनके भाई के नाम पर एक अस्पताल बनना चाहिए.

इस बीच महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने ट्वीट किया, "गुरनाम सिंह एक और भारतीय जवान मातृभूमि की रक्षा करते हुए हमें छोड़कर चला गया. जो लोग पांच करोड़ पर बड़ी चर्चा कर रहे थे वे उनके लिए कुछ करेंगे?"

First published: 23 October 2016, 10:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी