Home » जम्मू-कश्मीर » Stone pelting in kashmir decreased due to demonetization
 

जेटली: नोटबंदी से आतंकियों की कमर टूटी, पत्थरबाज़ी में कमी आई

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 August 2017, 10:56 IST

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि नोटबंदी के कारण आतंकवादियों का वित्त पोषण घट गया है और जम्मू एवं कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं की संख्या पिछले कुछ महीनों में घट गई है. उन्होंने कहा, "पिछले कुछ महीनों में, सुरक्षा बल हावी रहे हैं."

लोकसभा में अनुदान की पूरक मांग पर बहस का जवाब देते हुए जेटली ने कहा, "2008 से 2010 तक हमने सड़कों पर हजारों पत्थरबाज देखे. पिछले कुछ महीनों में सड़कों पर 25-50 या 100 से ज्यादा पत्थरबाज नहीं देखने को मिला है. इसका प्रमुख कारण यह है कि आतंकवादियों का वित्तपोषण घट गया है."

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के परिणामस्वरूप, आतंकवादी बैंकों से पैसे लूटने को मजबूर हुए. यही कारण है कि उत्तर प्रदेश के निवासी संदीप शर्मा, जिसे दक्षिण कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा मॉड्यूल के सदस्य के रूप में गिरफ्तार किया गया था, जो एक वेल्डर था और आतंकवादियों के लिए बैंक के लॉकर्स खोलता था.

उन्होंने कहा, "आतंकवादियों को धन की कमी नोटबंदी का प्रत्यक्ष परिणाम है. यह न सिर्फ कश्मीर घाटी में हो रहा है, यह छत्तीसगढ़ में भी हो रहा है."

First published: 2 August 2017, 10:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी