Home » जम्मू-कश्मीर » Terrorist Zakir Musa calling indian muslims shameless in his new audio clip
 

आतंकी ज़ाकिर मूसा बोला- भारतीय मुसलमान दुनिया में सबसे बेशर्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2017, 10:59 IST

भड़काऊ बयान देने के लिए बदनाम आतंकी ज़ाकिर मूसा ने इस बार भारतीय मुसलमानों के लिए ज़हर उगला है. ज़ाकिर ने सोमवार को एक ऑडियो क्लिप जारी की है. इस ऑडियो में ज़ाकिर कह रहा है कि दुनिया में सबसे बेशर्म लोग भारत के मुसलमान हैं. ज़ाकिर ने वीडियो में इसकी वजह भी बताई है. उसने कहा है कि भारतीय मुसलमान जिहाद में शामिल नहीं हैं और यह एक किस्म की बेशर्मी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक इस ऑडियो की प्रमाणिकता संदिग्ध नहीं है. जम्मू कश्मीर के दो पुलिस अधिकारियों ने पुष्टि की है कि ऑडियो में आवाज़ मूसा की ही है. मूसा ने यह ऑडियो क्लिप व्हाट्सऐप ग्रुप्स और टेलीग्राम पर शेयर की है.

 

भारतीय मुसलमानों को भड़काने की कोशिश

भारतीय मुसलमानों के अलावा ज़ाकिर मूसा ने और भी बहुत सारी भड़काऊ बातें की हैं. उसने कश्मीरियों के संघर्ष को इस्लाम और काफ़िरों की लड़ाई का रंग दे दिया है और राज्य से इस्लामीकरण के सपने देख रहा है.

मूसा ने अपनी क्लिप में बिजनौर में ट्रेन के भीतर एक मुस्लिम महिला के साथ जवान द्वारा रेप और मुसलमानों की पीट-पीट कर हो रही हत्या को भी आधार बनाकर लोगों को भड़काने की कोशिश की है. 

 

ज़ाकिर मूसा ने हुर्रियत नेताओं को धमकी देने के बाद हिजबुल से नाता तोड़ लिया था (आर्या शर्मा/कैच न्यूज़)

हिजबुल मुजाहिदीन का अंदरूनी विवाद

दरअसल ज़ाकिर मूसा का एक ऑडियो सामने आने के बाद कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में दो फाड़ देखने को मिली थी. जाकिर ने कश्मीर की लड़ाई को आज़ादी के बजाए इस्लाम के शासन के लिए जंग बताया था. यही नहीं मूसा ने कहा था कि अगर अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ्रेंस ने इसे आज़ादी के लिए संघर्ष बताया, तो उनके नेताओं के सिर कलम करके श्रीनगर के लाल चौक पर टांग दिए जाएंगे. 

मूसा के इस बयान से हिजबुल ने किनारा कर लिया था, जिसके बाद मूसा ने हिजबुल से नाता तोड़ लिया था. हाल ही में दक्षिण कश्मीर में हिजबुल के कमांडर सबजार अहमद बट को सेना ने मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था. इसके बाद हिजबुल ने शक जताया था कि मूसा ने ही सबजार की लोकेशन बताकर उसे मरवाया है. हालांकि मूसा ने ऑडियो जारी करके इससे इनकार किया था. 

First published: 6 June 2017, 10:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी