Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » Budget 2018: Job vacancies in Real Estate, Infra, Manufacturing , IT and Banking Sector, Textile and many private sectors
 

बजट 2018: इन सेक्टर्स में मिलेंगे नौकरी के बंपर मौके

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 January 2018, 13:44 IST

देश भर में नौकरियों का बुरा हाल है. एक और जहां देश का हर युवा सरकारी नौकरी के लिए जद्दोजहद में लगा हुआ है वही प्राइवेट सेक्टर भी मंदी कि मार झेल रहा है. आईटी हो या बैंकिंग सेक्टर, टेक्सटाइल हो या स्टार्टअप्स, देशभर में नए और पुराने सेक्टरों में नौकरियों पर खतरा मंडरा रहा है.

टेक्सटाइल, मैन्युफैक्चरिंग और आईटी जैसे सेक्टर्स जो बड़ी तादाद में रोजगार देते हैं उनकी भी हालत खराब है. प्राइवेट सेक्टर्स में एक बार नौकरी जाने के बाद दुबारा नौकरी पाना कठिन है.

 

ऐसे मौके पर इंडस्ट्री के साथ ही आम आदमी की नजर भी अब वित्त मंत्री पर टिक गई है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि वित्त मंत्री बजट में नौकरियों का पिटारा खोल सकते हैं. खासकर कुछ सेक्टर्स को लेकर हाल में बड़े कदम उठाए गए हैं, जिनमें नौकरी के बड़े मौके बनेंगे.

रिटेल सेक्टर को होगा फायदा

एक्सपर्ट्स का मानना है कि हाल में एफडीआई नियमों में ढील देने से रिटेल सेक्टर्स को फायदा होगा. साथ ही, सरकार इन्फ्रा पर खर्च बढ़ा रही है. लिहाजा इन सेक्टर्स में नौकरी के नए मौके बनेंगे. इनके अलावा एग्री, एजुकेशन, मैन्युफैक्चरिंग और हेल्थ को लेकर बडे़ ऐलान किए जा सकते हैं.
रोजगार बढ़ाने के लिए ऑर्गेनाइज्ड सेक्टर, छोटी इंडस्ट्री में भी नए रोजगार पैदा करने पर फोकस किया जा सकता है.

 

एम्प्लॉईज़ पीएफ में एक हिस्सा देगी सरकार

नई नीति के तहत एम्प्लॉईज़ पीएफ में एक हिस्सा सरकार दे सकती है. बजट में लेबर लॉ से जुड़ी शर्तों में ढील दी जा सकती है, जिसके बाद नौकरी-पेशा, खास तौर पर कारखानों में काम करने वाले कर्मचारियों को कुछ राहत की उम्मीद है.

 

मेक इन इंडिया से होगा रोजगार पर फोकस

सरकार मेक इन इंडिया के तहत स्किल डेवलपमेंट और रोजगार गारंटी पर फोकस कर रही है और बजट में इससे जुड़ी कुछ घोषणाएं हो सकती हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रोजगार की गारंटी वाली स्किल ट्रेनिंग पर सरकार सब्सिडी दे सकती है. अगर ऐसा हुआ तो बड़े पैमाने पर नई नौकरियों के बाजार में आने की उम्मीद है. नेशनल एंप्लॉयमेंट पॉलिसी के तहत सेक्टरवार जॉब क्रिएशन के लिए एक रोडमैप तैयार किया जा सकता है और इसका खाका इस बजट में पेश किया जा सकता है.


उम्मीद है ये बजट 2018 नौकरियों के लिए भी अच्छी खबर लेकर आएगा. देश के युवाओं कि सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी में कुछ राहत मिलने की उम्मीद की जा सकती है. प्राइवेट सेक्टर में नौकरियों की खस्ता हालत में सुधार की भी कुछ उम्मीद की जा सकती है.

First published: 31 January 2018, 13:44 IST
 
अगली कहानी