Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » EPFO: According to pay-roll statistics of the EPFO, 47.13 lakh new opportunities created in the last 10 months
 

मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, 10 महीने में 47 लाख रोजगार के मौके: EPFO

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 August 2018, 15:07 IST

पे-रोल आंकड़ों के मुताबिक इस साल जून तक पिछले दस महीने में 47.13 लाख रोजगार के नए अवसर पैदा हुए हैं. EPFO के सितंबर 2017 से जून 2018 तक के आंकड़ों के विश्लेषण के आधार पर ये जानकारी मिली है.

ईपीएफओ के मुताबिक सितंबर- मई के दौरान 44.74 लाख नए सदस्यों को केंद्र सरकार की सामाजिक सुरक्षा योजना में जोड़ा गया है. इनमें भविष्य निधि योजना, नेशनल पेंशन स्कीम सहित कई राष्ट्रीय बीमा योजनाएं शामिल हैं. EPFO ने नए सदस्यों के जुड़ने का अनुमान 12.38 फीसदी तक कम कर दिया है. प्रतिशत घटा दिया है. नए सदस्यों के जुड़ने के अनुमान को 44.74 लाख से घटाकर 39.20 लाख कर दिया है.  


दरअसल "पे-रोल" एक कंपनी के कर्मचारियों की सूची है, लेकिन आमतौर पर "पे-रोल" कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों को भुगतान की जाने वाली वेतन  मजदूरी और करों की कुल राशि होती है. कंपनी को अनिवार्य रूप से सभी कर्मचारियों का प्रोविडेंट फंड (PF) अकाउंट EPFO में खोलना होता है.

ये भी पढ़ें-अटल बिहारी वाजपेयी को ये राज्य रखेगा जीवंत, स्कूल की किताबों में दी अहम जगह

एक निश्चित राशि कर्मचारियों और कंपनी द्वारा इसमें जमा कराया जाता है जिससे काम करने वाले भविष्य सुरक्षित हो सके. इसी से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार जानकारी मिली है कि 10 महीनों में 47.13 लाख नए रोजगार का सृजन हुआ है.

समाचार एजेंसी PTI पीटीआई के अनुसार ईपीएफओ ने कहा है कि रोजगार के ये आंकड़े अस्थाई हैं. कर्मचारियों का रिकॉर्ड अपडेट करना लगातार चलने वाली प्रक्रिया है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कहा है कि इसमें अस्थायी कर्मचारी भी शामिल हो सकते हैं जिनका योगदान पूरे साल के दौरान जारी रहना अनिश्चित है.

First published: 21 August 2018, 15:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी