Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » Jobs: 60 thousand jobs can be loss in telecom sector, start Job Search for Financial security
 

बुरी खबर: इस सेक्टर में होगी 60 हजार लोगों की छंटनी, बेरोजगारी से बचने के लिए करें ये काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2018, 13:11 IST

टेलिकॉम सेक्टर में काम कर रहे लोगों के लिए बुरी खबर है. क्षेत्र के कई विशेषज्ञों ने इस वित्त वर्ष के आखिर तक 60,000 से अधिक लोगों के छंटनी की आशंका जताई है. इसलिए परेशानियों से बचने के लिए कर्मचारियों को अभी से नौकरी ढूंढनी शुरू कर देनी चाहिए या रोजगार के दूसरे विकल्पों पर विचार करना चाहिए ताकि बेरोजगारी मार से बचा जा सके.

स्टाफिंग फर्म टीमलीज सर्विसेज ने कहा है कि 31 मार्च 2019 को खत्म होने वाले वित्त वर्ष तक टेलिकॉम सेक्टर से करीब 60,000 से ज्यादा नौकरियां जा सकती हैं. इसका सबसे ज्यादा असर फाइनैंशल वर्टिकल्स और कस्टमर सपोर्ट पर पड़ेगा और करीब 15,000 नौकरियां इन दोनों सेगमेंट से जाने की आशंका है.

टीमलीज की सह-संस्थापक रितुपर्णा चक्रवर्ती का कहना है कि टेलिकॉम इंडस्ट्री अब स्टेबल हो रही है. इस वजह से वित्त वर्ष 2019 के बाद छंटनी रुक सकती है और कंपनियां फ्रेश हायरिंग पर अपना फोकस करेगी. उन्होंने बताया, ''कंसॉलिडेशन के चलते साल 2019 में टेलिकॉम सर्विस और इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर्स में 60-75 हजार नौकरियां कम होने की संभावना हैं''.

टेलिकॉम इंडस्ट्री के जानकारों की राय

सेल्युलर ऑपरेटर्स असोसिएशन ऑफ इंडिया (COAI) के डायरेक्टर जनरल राजन मैथ्यूज का कहना है कि ने ''हमारा बुरा वक्त गुजर चुका है. अब कंपनियां आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, बिग डेटा, 4जी नेटवर्क एक्सपैंशन में हायरिंग तेज कर रही है. वित्त वर्ष 2018-19 की पहली दो तिमाहियां अच्छी नहीं रहीं, लेकिन वह दौर अब खत्म हो चुका है.''

यह लगातार दूसरा साल है, जब टेलिकॉम सेक्टर ने छंटनी की है. छोटी कंपनियों के बिजनस बंद भी हुए और कुछ का मर्जर हो गया. इस बीच कंपनियों के मुनाफे में कमी आई है.

First published: 23 October 2018, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी