Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » Officers says recruitment for 35,000 Employees soon in Jammu Kashmir
 

जम्मू-कश्मीर में 35,000 पदों पर जल्द होगी भर्ती, अधिकारियों ने दी जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2020, 14:56 IST

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने को आज एक साल पूरा हो गया. आज ही के दिन यानी 05 अगस्त 2019 (5th August 2019) को जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा समाप्त कर दो भागों में बांद दिया था, और जिसमें से लद्धाख (Ladakh) और जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) को केंद्र शासित राज्य (Union territory) बना दिया गया. कश्मीर में अब युवाओं को रोजगार (Jobs) देना सरकार (Government) की प्राथमिकता (Priority) में है. इसी को देखते हुए सरकार जम्मू-कश्मीर में हजारों पर पर भर्ती करने जा रही है.

जिनमें डॉक्टर्स (Doctors), पशुचिकित्सक (Veterinary Doctor) और पंचायत सहायकों (Panchayat Assistant) के कुल 10 हजार पद शामिल होंगे. जबकि आगामी कुछ महीनों में विभिन्न विभागों में 25 हजार अन्य पदों पर भी युवाओं की भर्ती की जाएगी. मंगलवार को इस बारे में जम्मू-कश्मीर के अधिकारियों ने जानकारी दी. इस हिसाब से आने वाले दिनों में जम्मू-कश्मीर में कुल 35,000 पदों पर नौजवानों की नियुक्ति की जाएगी. बता दें कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों के निरस्त और जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के क्रियान्वयन के बाद से पश्चिम पाकिस्तान के कुल 20,000 शरणार्थियों को केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में नागरिकता प्रदान की गई.


UPSC Civil Services Exam 2019: सिविल सेवा परीक्षा 2019 का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह बने टॉपर

साथ ही प्रति परिवार साढ़े पांच लाख की वित्तीय मदद मुहैया कराई गई है. अधिकारियों के मुताबिक करीब 10,000 सफाई कर्मचारियों को शिक्षा और नौकरियों जैसे सभी अधिकारों एवं विशेषाधिकारों के साथ वैध नागरिक होने का प्रमाणपत्र भी दिया गया है. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के मुताबिक, जम्मू कश्मीर सरकार ने बड़ा और त्वरित भर्ती अभियान शुरू किया है. पहले चरण में 10,000 रिक्त पदों पर उम्मीदवारों की भर्ती की जाएगी.

UPSC IAS Result 2019: पिता करते थे पेट्रोल पंप पर काम, बेटे ने यूपीएससी परीक्षा में पाई 26वीं रैंक

उसके बाद 25,000 और भर्तियों की योजना है. बता दें कि पिछले साल पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश ने यह पहल की है. अधिकारी के मुताबिक, जो रिक्तियां भरी जा रही हैं, वह डॉक्टर्स, पशुचिकित्सक, पंचायत लेखा सहायकों और चतुर्थ वर्ग के पदों के लिए होंगी. उनमें ज्यादातर पदों के लिए साक्षात्कार समाप्त कर दिया गया है. उन्हें बस लिखित परीक्षा के परिणाम के आधार पर भरा जाएगा.

UPSC Result 2019: जामिया मिलिया यूनिर्सिटी के RCA ने रचा इतिहास, 30 स्टूडेंट्स ने पास की सिविल सेवा परीक्षा

First published: 5 August 2020, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी