Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » RRB 2018: Railway Recruitment board may complete scrutiny work of applications up to 10th of July
 

RRB 2018: रेलवे ग्रुप-C और D की परीक्षा इस महीने, आवेदनों की जांच 10 जुलाई तक

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2018, 11:21 IST
RRB Group D Recruitment

रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) द्वारा अब तक के इतिहास का सबसे बड़ा रिक्रूटमेंट ड्राइव चलाया जा रहा है. RRB ने करीब 90 हजार पदों पर भर्ती के लिए वैकेंसी निकाली है जिसके लिए लगभग 2.4 करोड़ उम्मीदवारों ने आवेदन किए हैं.

इतनी बड़ी संख्या में आवेदन आने से रेलवे भर्ती बोर्ड भी सकते में है. सबसे चुनौती पूर्ण कार्य एप्लीकेशन की छंटनी का है, इन आवेदनों की स्क्रूटनी का काम तेजी से किया जा रहा है. इन आवेदनों को तीन स्तर पर जांचा जा रहा है ताकि इसमें कम से कम त्रुटि हो.

रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर इंफॉर्मेशन एंड पब्लिसिटी (IT & PR) आर डी बाजपेयी के कहा है कि भारी संख्या में मिले आवेदनों के बावजूद भर्ती प्रक्रिया को सुचारू ढंग से पूरी करने की तैयारी की गई है. उन्होंने बताया कि ग्रुप-D के 62,907 पदों के लिए पूर्व में भर्ती प्रकिया रीजनल लेवल पर की जाती थी लेकिन इस बार इसको सेंट्रलाइज्ड कर राष्ट्रीय स्तर पर किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-RRB 2018: रेलवे में ग्रुप D के हजारों पदों पर नई वैकेंसी, 17 जुलाई है अंतिम तारीख

आर डी बाजपेयी के अनुसार प्राप्त आवेदनों की जांच का काम 10 जुलाई के आसपास तक पूरा हो जाने की उम्मीद है. इसके बाद योग्य उम्मीदवारों की लिस्ट सभी 20 रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड की वेबसाइटों पर डाल दिया जाएगा. ऐसी संभावना जताई जा रही है कि सितंबर के महीने में रेलवे के सबसे बड़े भर्ती अभियान के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन शुरू हो जाएगा.

रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर इंफॉर्मेशन एंड पब्लिसिटी आर डी बाजपेयी के मुताबिक असिस्टेंट लोको पायलट की लिखित परीक्षा में सफल आवेदकों का साइको टेस्ट होगा और उसके बाद इनका मेडिकल टेस्ट लिया जाएगा. परीक्षा पूरी तरह से कंम्प्यूटर आधारित होगी और इसके लिए रेलवे ने एजेंसी का चयन कर लिया है.

भारतीय रेलवे की इस वैकेंसी के माध्यम से ग्रुप-C और ग्रुप-D के विभिन्न पदों; असिस्टेंट लोको पायलट (ALP) टेक्नीशियन, गैंगमैन, स्विच मैन ट्रैकमैन, और पोर्टर के पदों पर उम्मीदवारों को नौकरी दी जाएगी. रेलवे के मुताबिक ग्रुप-D के 62,907 सीट और ग्रुप-C के  26,502 सीट के लिए देशभर से आवेदन मंगाए गए हैं. इसमें चयनित उम्मीदवारों को सातवें वेतन आयोग के मुताबिक वेतन और अन्य भत्ते देय होंगे. ग्रुप D की भर्तियों का काम रेलवे रिक्रूटमेंट सेल द्वारा किया जाएगा.

ऐसी उम्मीद की जा रही है कि अगर सितंबर में परीक्षा का आयोजन शुरू हो जाता है तो आवेदकों की भारी संख्या को देखते हुए लिखित परीक्षा को पूरा करने में ही तीन से चार महीने का वक्त लग सकता है. उसके बाद लिखित परीक्षा का रिजल्ट जारी करने, साइको टेस्ट और शारीरिक क्षमता का परीक्षण (PST) प्र होने में अगले साल मार्च-अप्रैल तक का समय लग जाएगा.

First published: 3 July 2018, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी