Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » RRB Exams 2018 : Railway Changes These Rules in Group C, D And Alp Technician Examination 2018
 

RRB Exams 2018: रेलवे भर्ती परीक्षा में इस बार किए गए ये बड़े बदलाव, एग्जाम से पहले जानना है जरूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2018, 23:11 IST

रेलवे भर्ती बोर्ड इनदिनों पूरे देश में एक लाख से अधिक Group C, D और ALP, Technician के पदों के लिए भर्ती परीक्षा करा रहा हैऐसे में हर उम्मीदवार की कोशिश है कि वो इस परीक्षा को पास कर भारतीय रेलवे में नौकरी हासिल कर लेलेकिन कड़ी प्रतिस्पर्धा की वजह से इस परीक्षा में सफलता पाने के लिए उम्मीदवारों को लगन और कड़ी मेहनत की जरूरत हैक्योंकि देशभर में इन पदों के लिए ढाई करोड़ से ज्यादा बेरोजगारों युवाओं ने आवेदन किया है.

बता दें कि रेलवे भर्ती बोर्ड ने 31 अगस्त को होने जारी रही असिस्टेंट लोको पायलट (ALP) और टेक्नीशियन भर्ती परीक्षा (फस्र्ट स्टेज सीबीटी एग्जामके एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैंपहले RRB Alp- Technician परीक्षा 31 अगस्त को समाप्त होनी थीलेकिन अब ये परीक्षा सितम्बर, 2018 तक चलेगीदरअसलबाढ़ प्रभावित केरल के हालातों को देखते हुए रेलवे ने इस परीक्षा को स्थगित कर दिया थाइसलिए अब ये परीक्षा सितंबर को समाप्त होगी.


बता दें कि ग्रुप सी के 64,000 पदों के लिए करीब 47 लाख उम्मीदवारों ने आवेदन किया हैएेसे में अगर आप भी रेलवे का एग्जाम देने जा रहें है तो आइए जानते है परीक्षा से जुड़ी कुछ जरूरी बातें.

इस बार हिंदी इंग्लिश सहित 15 भाषाओं में होगा एग्जाम

बता दें कि रेलवे इस बार ये एग्जाम अंग्रेजी और हिंदी सहित 15 भाषाओं में करा रहा है. उम्मीदवार किसी भी भाषा में परीक्षा दे सकते हैं. रेलवे भर्ती बोर्ड ने अंग्रेजी और हिंदी के अलावा इन भाषाओं में एग्जाम देने की सुविधा दी हैबंगालीगुजरातीअसमीकन्नड़मलयालमकोंकणीमराठीउड़ियापंजाबीतमिलतेलुगुमणिपुरी और उर्दू. माना जा रहा है कि यह ऐसी पहली परीक्षा है जिसमें एक साथ इतनी भाषाओं में प्रश्न पूछे जाएंगे.

किसी भी भाषा में कर सकते है सिग्नेचर

बता दें कि पहले ऐसी खबरें थीं कि रेलवे भर्ती में सिर्फ हिंदी या अंग्रेजी में किया गया सिग्नेचर ही मान्य होगा. लेकिन रेल मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि परीक्षार्थी किसी भी भाषा में सिग्नेचर कर सकता है.

छोटे कद और कुष्ट रोगियों को मिलेगा आरक्षण का लाभ

इस बार रेलवे ने भर्ती परीक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए एसिड अटैक पीड़ित, कुष्ठरोग बीमारी से ग्रस्त रहेमांसपेशी दुर्विकास और छोटे कद के युवाओं को भी दिव्यांग श्रेणी में आरक्षण देने का फैसला लिया है.

पौने तीन करोड़ उम्मीदवार दे रहे हैं परीक्षा

करीब एक लाख पदों के लिए हो रही रेलवे की ये भर्ती परीक्षा में करीब पौने तीन करोड़ उम्मीदवारों ने अप्लाई किया है. बता दें कि किसी एक एग्जाम में इतने लोगों द्वारा आवेदन करना भी एक तरह का रिकॉर्ड है.

मेरिट में बराबर मार्क्स होने पर अधिक उम्र वाले को मिलेगी प्राथमिकता

इस परीक्षा के लिए रेलवे ने साफ कर दिया है कि अगर कई उम्मीदवारों के एक जैसे मार्क्स होंगे तो आयु के आधार पर सलेक्शन किया जाएगायानी जिस उम्मीदवार की उम्र अधिक होगीउसे भर्ती के लिए प्रॉयोरिटी दी जाएगी.

किसी पद के लिए नहीं होगा इंटरव्यू

रेलवे ने इस बार किसी भी पद के लिए इंटरव्यू नहीं लेने के फैसला किया है. इसलिए उम्मीदवार केवल रिटर्न टेस्ट और ग्रुप डी के मामले में फिजिकल टेस्ट के आधार पर सलेक्शन पा लेंगेरेलवे ने ये फैसला इंटरव्यू में संभावित गड़बड़ियों को रोकने के लिए लिया है.

ये भी पढ़ें- चपरासी की नौकरी पाने के लिए मजबूर 3700 PhD धारक, MBA- B.tech वाले भी नहीं पीछे

First published: 30 August 2018, 23:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी