Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » RRB Group D Exam 2018: Railway CBT exam 7 arrested in cheating in meerut
 

RRB Group D: रेलवे की परीक्षा में नकल का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार.. लीक प्रूफ नहीं हो रहा है एग्जाम!

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 October 2018, 10:42 IST

RRB Group D Exam: रेलवे ग्रुप-डी की परीक्षा आप तक लीक प्रूफ और गड़बड़ियों से दूर बताई जा रही थी लेकिन ऑनलाइन भर्ती परीक्षा में सामूहिक नकल का भंडाफोड़ हुआ है. ग्रुप-डी की कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) में मेरठ के एफआईटी इंस्टीट्यूट में नकल से परीक्षा पास कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया गया है. एसटीएफ और एसपी सिटी के ज्वाइंट ऑपरेशन में सॉल्वर (दूसरे के बदले परीक्षा में बैठने वाले) सहित गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए लोगों में एक आरोपी भारत की रक्षा अनुसंधान संस्थान (DRDO) पुणे में टेक्नीशियन है.

गिरोह फेवीकोल से फिंगर प्रिंट का क्लोन बनाकर और फोटो कंप्यूटर से मिक्सिंग कर परीक्षार्थी के बदले दूसरे को परीक्षा में बैठाते थे. मथुरा, मेरठ के लोग इस गिरोह को चलाते थे. छापेमारी के दौरान पुलिस ने भारी मात्रा में फर्जी डॉक्यूमेंट बरामद किए हैं.

मेरठ के एसपी सिटी रणविजय सिंह और एसटीएफ सीओ ब्रजेश कुमार सिंह ने मीडियाकर्मियों को बताया कि शुक्रवार शाम गंगानगर क्षेत्र स्थित एफआईटी इंस्टीट्यूट में रेलवे ग्रुप-डी की ऑनलाइन परीक्षा के दौरान छापेमारी की गई. कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है, इनमें चार सॉल्वर, दो दलाल और एक ड्राइवर है.

इस नक़ल गिरोह का मास्टरमाइंड सुंदर चौधरी है जो मथुरा जिले के नौझील थाना क्षेत्र का निवासी है. इनलोगों से 30 हजार रुपये कैश, एक फेवीकोल फिंगर प्रिंट, 11 मोबाइल, दो गाड़ियां और बड़ी संख्या में आईडी प्रूफ बरामद किए गए हैं.

एसपी सिटी ने बताया कि बड़ौत का रहने वाला सुंदर डीआरडीओ पुणे में टेक्नीशियन के पद पर कार्य करता है. सुंदर विभिन्न जिलों से ऐसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे पढ़ने में तेज-तर्रार छात्रों को तलाशता है और उनकी मुलाकात मथुरा के गिरोह का सरगना राममेहर से मुलाकात कराता था आगे की जिम्मेदारी राममेहर की होती थी.

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार युवकों से पूछताछ में कई और बड़े गिरोहों के नाम का पता चला है जिनसे भी इनका संपर्क था. गैंग के अन्य फरार सदस्यों का भी पता लगाया जा रहा है और एफआईआर दर्ज कराई गई है.

First published: 13 October 2018, 10:42 IST
 
अगली कहानी