Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » RRB group D Exam: Railway Websites Server Down during paper, candidates complained and not able to solve question
 

RRB group D Exam: सवाल थे आसान, सर्वर ने किया परेशान तो RRB के अधिकारियों ने दी ये सुविधा

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2018, 10:55 IST

RRB group D Exam : रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) द्वारा ग्रुप-D की परीक्षा 17 सितंबर से शुरु हो गई है. लेकिन परीक्षा के पहले दिन उम्मीदवारों को सर्वर ने खूब परेशान किया. परीक्षा के दौरान तीनों शिफ्ट के अभ्यर्थी सर्वर धीमे चलने के कारण निर्धारित समय में पेपर सॉल्व नहीं कर पाए. इस तकनिकी मुश्किल को  देखते हुए RRB के अधिकारियों ने अभ्यथियों को अतिरिक्त समय भी दिया.

गौरतलब है कि यह परीक्षा CBT यानि कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट आधारित है और कंप्यूटर सिस्टम सीधा RRB के सर्वर से जुड़ा होता है. अभी तो परीक्षा की शुरुआत हुई है कुल 1 करोड़ 90 लाख उम्मीदवारों ने इस भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन किया है. इतनी बड़ी संख्या में आवेदकों के वाबजूद रेलवे ने चाक-चौबंद व्यवस्था नहीं की है और इसका खामियाजा उम्मीदवारों को उठाना पद रहा हैं.

RRB इलहाबाद रीजन में ग्रुप डी भर्ती के लिए पहले दिन सोमवार को तीन शिफ्ट में कम्प्यूटर आधारित परीक्षा जिले में 10 केंद्रों पर कराई गई. पहली शिफ्ट में कुल 70.81, दूसरी में 70.40 और तीसरी पाली में 70.70 प्रतिशत अभ्यर्थी शामिल हुए.

एक सवाल सॉल्व करने के बाद कंप्यूटर हो रहा था हैंग

परीक्षा देकर जंक्शन पर ट्रेन पकड़ने पहुंचे अभ्यर्थियों ने कहा कि 90 मिनट में 100 सवालों के जवाब देने थे, लेकिन सर्वर स्लो होने से मुश्किल आई. परीक्षा देकर आयी एक महिला अभ्यर्थी दीपाली श्रीवास्तव ने बताया कि एक सवाल का जवाब देने के बाद कम्प्यूटर हैंग हो जा रहा था जबकि श्रद्धा मिश्रा ने बताया गणित और रीजनिंग के सवाल भी आसान रहे लेकिन सर्वर डाउन होने के कारण सवालों के जबाब आने के वावजूद नहीं कर पाई.

पूछे ऐसे प्रश्न- सर्वर ने किया खूब परेशान

जबकि एक अन्य परीक्षार्थी आशीष ने बताया कि न्यूजीलैंड की राजधानी, जापान के प्रधानमंत्री का नाम पुछा गया, इन सवालों का आंसर आता था, सर्वर के कारण नहीं कर पाया. इलाहबाद के एक उम्मीदवार आदित्य  ने कहा कि एनालॉजी, क्लासिफिकेशन, ब्लड रिलेशन आदि पर आसान सवाल पूछे गए. ट्रेन पकड़ने आयी एक छात्रा प्रिया ने बताया  इतिहास, भूगोल के सवाल पूछने की बजाय साल 2016, 17 और 18 के घटनाक्रमों पर आधारित सवाल ही पूछे गए लेकिन सर्वर ने खूब परेशान किया.

First published: 18 September 2018, 10:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी