Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » UP Chief Minister Yogi's decision in the possession of 1.37 lakh Shiksha mitra for deployment of their original schools
 

शिक्षामित्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब अपने पसंद के स्कूल में कर सकेंगे नौकरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2018, 18:01 IST

उत्तर प्रदेश सरकार ने करीब 1.37 लाख शिक्षामित्रों को बड़ी सौगात दी है. शिक्षामित्र अब उन स्कूलों में काम कर सकेंगे जिनमें उनकी मूल नियुक्ति हुई थी. महिला शिक्षामित्रों को उनकी सुविधा का ध्यान रखते हुए यूपी शिक्षा विभाग ने उसी जिले में अपनी ससुराल या पति की नौकरी वाले स्थान पर  स्कूल में पढ़ाने का विकल्प दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-UGC ने देश भर में शिक्षक भर्ती पर लगाई रोक, सुप्रीम कोर्ट करेगी SLP पर सुनवाई

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने कहा है कि अगर शिक्षामित्र की तैनाती वाले स्कूल में शिक्षक ज्यादा हो रहे हैं तो जूनियर शिक्षकों का समायोजन दूसरे स्कूल में किया जाएगा, लेकिन शिक्षामित्रों की तैनाती वहां अनिवार्य रूप से की जाएगी. शिक्षा मित्रों को स्कूल चुनने के लिए विकल्प दिया जाएगा. अगर शिक्षामित्र अपने नए स्कूल में ही पढ़ाना चाहेगा तो उसे वापस ट्रांसफर नहीं किया जाएगा.

शिक्षामित्र काफी दिनों से अपने मूल तैनाती वाले स्कूलों में वापस जाने की मांग कर रहे थे लेकिन शिक्षा विभाग इस पर कोई फैसला नहीं कर पा रहा था. शिक्षा विभाग की आश्वासन समिति की बैठक में कई विधायकों ने शिक्षामित्रों की इस मांग को दोहराया तो एडिशनल चीफ सेक्रेटरी प्रभात कुमार ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के पास इस मामले पर प्रस्ताव भेजा था जिस पर मुख्यमंत्री ने सहमति दे दी और शिक्षामित्रों को बड़ी राहत मिल गई.

First published: 20 July 2018, 18:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी