Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » UP Police Constable Exam 2018: Allahabad High Court has fixed September 4 for hearing on the appeal of 41,520 Constable posts
 

UP Police Constable 2018: सिपाही भर्ती परीक्षा को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दिया ये आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 August 2018, 17:00 IST

UP Police Constable Exam 2018: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 के लिए दायर अपील पर सुनवाई के लिए 4 सितंबर की तारीख तय की है. हाईकोर्ट, दोनों सीटिंग में एक ही प्रश्नपत्र बांटने को लेकर पेपर लीक की संभावना के मामले पर दाखिल विशेष याचिका पर यूपी पुलिस भर्ती बोर्ड और राज्य सरकार से जवाब मांगा है. अब जब मामला कोर्ट में है तो फिर से परीक्षा कराने की तारीख को लेकर असमंजस की स्थिति बन सकती है.

यह आदेश न्यायमूर्ति गोविंद माथुर एवं न्यायमूर्ति सीडी सिंह की खंडपीठ ने दिया है. अपील कर्ता के अधिवक्ता रितेश श्रीवास्तव ने कोर्ट से गुहार लगाई कि पुलिस एवं पीएसी पुरुष/महिला कांस्टेबल भर्ती 2018 की परीक्षा में पेपर लीक हुआ है इसलिए परीक्षा निरस्त कर नए सिरे से कराई जाए.

गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट की एकल पीठ ने याचिका खारिज कर दी थी, जिसे अपील में चुनौती दी गई है. उत्तर प्रदेश सरकार ने दूसरी पाली की परीक्षा रद्द कर दी है लेकिन कोर्ट ने याचिका दाखिल होने के बाद हुए निर्णय के कारण सरकार को जवाब दाखिल करने का समय दिया है.

UP Police Constable Exam 2018: उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती बोर्ड द्वारा कांस्टेबल के 41,520 पदों के लिए आयोजित दूसरे सीटिंग की लिखित परीक्षा रद्द कर दी गई है. दो परीक्षा केंद्रों पर गलत पेपर बांट दिए जाने के कारण दोनों दिनों की दूसरी पाली की पूरी परीक्षा निरस्त कर दी गई है.

यह परीक्षा राज्य के 860 परीक्षा केंद्रों पर उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती और प्रोमोशन बोर्ड (UPPRPB) द्वारा 18 और 19 जून 2018 को आयोजित की गई थी. इस पुलिस भर्ती परीक्षा में शामिल 10 लाख से अधिक उम्मीदवारों को अब दूसरी सीटिंग की परीक्षा दोबारा देनी पड़ेगी. परीक्षा की नई तारीख की घोषणा जल्द ही कर दी जाएगी.

दरअसल, इलाहाबाद और एटा के एक-एक परीक्षा केंद्र पर पेपर बदले गए थे जिसके बाद परीक्षा निरस्त करने का फैसला लिया गया है. इलाहाबाद के सेंटर गुरु माधव प्रसाद इंटर कॉलेज और एटा के श्री पीपीएस कॉलेज में ये गड़बड़ी हुई थी, दोनों सेंटर को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है. साथ ही इन दोनों केन्द्रों पर ड्यूटी के लिए तैनात कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज करने की बात कही गई है.

First published: 18 August 2018, 17:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी