Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » UP Police Constable Exam 2018: UP STF exposed paper leak gang from Meerut, 22 Question Solver and master minds have been arrested
 

UP Police Constable Exam 2018: पुलिस वाला चला रहा था गैंग, 22 लोगों के साथ हुआ गिरफ्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 June 2018, 17:37 IST
(ANI)

उत्तर प्रदेश सिपाही भर्ती परीक्षा में दूसरे दिन भी  पेपर लीक करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. यूपी स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने मेरठ से एक ऐसे ही गिरोह को अपने गिरफ्त में लिया है. एसटीएफ की इस कार्यवाई में 22 क्वेश्चन सॉल्वर को और कुछ उम्मीदारों को गिरफ्तार किया है. हैरत की बात ये है कि सिपाही भर्ती परीक्षा पेपरलीक गिरोह का सरगना भी एक पुलिस कांस्टेबल ही है. हिरासत में लिए गए सॉल्वर हरियाणा के थे जबकि कैंडिडेट्स पश्चिमी उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं.

गिरफ्तार आरोपियों से दर्जनों मोबाइल फोन, मार्कशीट, कैश और अन्य डाक्यूमेंट्स बरामद किया गया हैं. इस गिरोह का नेटवर्क हरियाणा और यूपी राज्य के कई जिले में फैला है और इस गैंग के बाकी सदस्यों की तलाश में एसटीएफ लगातार छापेमारी कर रही है. पुलिस की  पूछताछ में ये खुलासा हुआ है कि यह गिरोह प्रत्येक स्टूडेंट्स से परीक्षा पास कराने के ऐवज में 4 से 5 लाख रुपये की वसूली करते थे.

एसटीएफ के अधिकारी ब्रजेश कुमार ने बताया कि इस गैंग ने काफी दिन से अपना ठिकाना मेरठ के कंकरखेड़ा इलाके में बना रखा था. पुलिस ने जब सूचना के आधार पर छापेमारी की तो सभी कंकरखेड़ा के एक मकान में मौजूद थे. इस गैंग का मास्टरमाइंड बागपत के कुरड़ी गांव का रहने वाला शकील है. शकील हाल ही में उत्तर प्रदेश पुलिस कॉस्टेबल के पद पर चयनित हुआ है. शकील ने 17 जून को हुए एग्जाम में भी में कई सॉल्वर बैठाए थे और पुलिस को शकील ने बताया कि पहले दिन उसके सॉल्वर पकड़ में नहीं आये थे.

गौरतलब है कि कल आजमगढ़ में पुलिस ने एक कोचिंग संस्थान सहित एक शिक्षक संचालक को पेपर लीक करने के मामले में गिरफ्तार किया था. आजमगढ़ के विश्वा कोचिंग सेंटर पर शनिवार को पुलिस ने छापा मार कर पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर आउट करने से पहले रैकेट का भंडाफोड़ करने का दावा किया है. पुलिस ने इस छापेमारी में कोचिंग प्रबंधक को मौके पर गिरफ्तार किया था.

First published: 19 June 2018, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी