Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » UPTET 2018: know guide line for Exam, A mistake may cancelled your Copy
 

UPTET 2018: भूलकर भी नहीं करें ये काम वरना रद्द हो जाएगी आपकी परीक्षा, विभाग ने दिए जरुरी निर्देश

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2018, 14:16 IST

UPTET 2018: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी-2018) 18 नवंबर को आयोजित की जा रही है. परीक्षा को लेकर विभाग ने कई तरह के दिशा-निर्देश जारी किए हैं, इसी क्रम में परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने कहा है कि परीक्षार्थी भूलकर भी आंसर-शीट में व्हाइटनर यानि सफेदा का उपयोग नहीं करें अन्यथा ओएमआर शीट नहीं जांची जाएगी.

व्हाइटनर ( गलतियां छुपाने के लिए सफ़ेद लिक्विड) लगाने की एक गलती पूरी मेहनत पर पानी फेर देगी. सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने निर्देश जारी कर कहा है कि ओएमआर शीट पर गलत लिखने के बाद सफेदा (करेक्टिव फ्लुइड या व्हाइटनर) का प्रयोग कभी न करें ऐसा होने पर ओएमआर शीट रद्द कर दी जाएगी.

 

आंसर शीट की एक कार्बन कॉपी ले जा सकते हैं घर

यदि कोई परीक्षार्थी सादी ओएमआर शीट (उत्तर पत्रक) जमा करता है तो कक्ष निरीक्षक उस पर अभ्यर्थी से ही क्रास (कटवा) देगा, क्योंकि उसका मूल्यांकन नहीं होगा. ओएमआर शीट पर दिए गए स्थान पर पेन से हल किए गए प्रश्नों की संख्या शब्दों एवं अंकों में लिखना आवश्यक है. प्रश्न-पत्र और उत्तर पत्रक की कार्बन प्रति की एक कॉपी अभ्यर्थी परीक्षा के बाद अपने साथ ले जा सकेंगे.

अन्य निर्देश

परीक्षार्थी प्रश्न-पुस्तिका के मुख्यपृष्ठ एवं ओएमआर शीट पर रजिस्ट्रेशन नंबर, अनुक्रमांक, केंद्र का नाम, प्रश्न पुस्तिका सीरीज, भाषा विकल्प, विज्ञान, गणित/सामाजिक विषय एवं अन्य विषय का विकल्प आदि (जो उत्तर-पत्रक में प्रिंट हो) को भरेगा. यदि प्रश्न पेपर त्रुटिपूर्ण है तो अभ्यर्थी इसकी सूचना निरीक्षक को देगा. कक्ष निरीक्षक त्रुटिपूर्ण प्रश्न पुस्तिका के बदले उसी सीरीज की नयी पुस्तिका देंगे.

First published: 15 November 2018, 14:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी