Home » गवर्मेन्ट जॉब्स » Uttar Pradesh 68500 Teacher Recruitment 2018: Up Cm yogi Adityanath said rechecking of the copies will Free for all candidates
 

यूपी 68500 शिक्षक भर्ती: सीएम योगी ने दी उम्मीदवारों को ये बड़ी राहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 October 2018, 15:55 IST

उत्तर प्रदेश 68500 शिक्षक भर्ती परीक्षा में गड़बड़ियों के जांच की रिपोर्ट मिलने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने उम्मीदवारों को भरोसा देते हुए कहा है कि जो अभ्यर्थी अपने कॉपी की फिर से जांच करवाना चाहते हैं उनकी कॉपियों का नि:शुल्क पुनर्मूल्यांकन करवाया जाएगा.

सीएम योगी के निर्देश के बाद विभाग ने पुनर्मूल्यांकन के लिए 11 से 20 अक्तूबर तक ऑनलाइन आवेदन लेने की तारीख भी निर्धारित कर दी है. जांच पूरी होने के बाद उन योग्य उम्मीदवारों को न्याय की उम्मीद है जो अधिकारियों की लापरवाही के कारण नियुक्ति प्रक्रिया से बाहर हो गये थे.

हालांकि पुनर्मूल्यांकन से पहले भर्ती के लिए 9 जनवरी को जारी शासनादेश में संशोधन करना होगा क्योंकि उस शासनादेश में कॉपी की दोबारा जांच या स्क्रूटनी का कोई प्रावधान नहीं रखा गया था. विभागीय नियमानुसार जब तक पूर्व के आदेश में संशोधन नहीं किया जाता तब तक पुनर्मूल्यांकन संभव नहीं है. इसी वजह से जांच टीम ने भी सिर्फ उम्मीदवारों की कॉपियों पर मिले मार्क्स और अवार्ड ब्लैंक व रिजल्ट पर चढ़ाए गए नंबर का मिलान भर किया है.

लिखित परीक्षा के रिजल्ट में गड़बड़ियां सामने आने के बाद भी संशोधन की कार्रवाई नहीं की गई है. जांच टीम ने पुनर्मूल्यांकन की बात कही है लेकिन परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को फिलहाल कोई आदेश नहीं मिला है. जांच टीम की रिपोर्ट के अनुसार लिखित परीक्षा में शामिल सभी 1,07,825 परीक्षार्थियों की कॉपियों की जांच की गई है, इसमें 343 कॉपियों के मूल्यांकन में गड़बड़ी मिली है.

जांच रिपोर्ट के मुताबिक 51 उम्मीदवार लिखित परीक्षा में सफल थे मतलब ये उम्मीदवार शिक्षक बनने के लायक थे लेकिन उन्हें फेल कर दिया गया जबकि 53 ऐसे अभ्यर्थी को पास कर दिया गया था जो फेल थे. इतना ही नहीं इनमें से 2 उम्मीदवार ऐसे थे जो परीक्षा में शामिल भी नहीं हुए थे लेकिन उन्हें पास कर दिया गया था.

First published: 7 October 2018, 15:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी