Home » लाइफ स्टाइल » Bitter Gourd can be harmful to Pregnant Woman know about its Side Effects
 

प्रेग्नेंट महिलाओं को क्यों करेला न खाने की सलाह दी जाती है ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 April 2018, 16:53 IST

मां बनना हर महिला का सपना होता है. अपने बच्चे को इस दुनिया में लाने से पहले तक एक महिला को तमाम चीजों का ध्यान रखना होता है. ऐसे में अगर कोई प्रेग्नेंट महिला कुछ गलतियां कर दे तो गर्भ में पल रहे बच्चे और मां दोनों की जान को खतरा हो सकता है. कभी-कभी तो गर्भपात तक की नौबत आ जाती है. ऐसे में महिलाओं को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

वैसे करेले का सेवन करना अच्छा माना जाता है, लेकिन प्रेग्नेंसी में इसे खाने से बच्चे को नुकसान हो सकता है. आज हम आपको बताएंगे कि प्रेग्नेंट महिलाओं को करेला क्यों नहीं खाना चाहिए.

क्यों करेला ना खाएं प्रेग्नेंट महिलाएं

करेले के बीजों में मेमोरचेरिन नाम का तत्व पाया जाता है. जो गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए नुकसानदायक होता है. इसे खाने से गर्भपात हो सकता है. जो महिलाएं मां बनने की सोच रही हैं या पहले से ही प्रेग्नेंट हैं उन्हें करेले के सेवन से बचना चाहिए.

 

करेले के बीज भरपूर मात्रा में लेक्टिन नामक तत्व पाया जाता है जो लीवर में प्रोटीन के संचार में रूकावट पैदा कर सकता है. इसलिए अधिक करेला खाने से लीवर पर भी असर पड़ता है. जिससे लीवर एंजाइम बढ़ सकता है. इसलिए गर्भवती महिलाओं को ज्यादा करेला नहीं खाना चाहिए.

करेले में भरपूर मात्रा में एंटी लैक्टोजन तत्व पाया जाता है, जो गर्भावस्था के दौरान दूध बनने की प्रक्रिया को भी रोकने का काम करता है. इसलिए गर्भवती महिलाओं को करेले का सेवन करने से बचना चाहिए. साथ ही करेले में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो फर्टिलिटी संबंधित दवाओं का असर खत्म करने में सक्षम माने जाते हैं, इसलिए भी प्रेगनेंट महिलाओं को करेला खाने से बचना चाहिए. अधिक मात्रा में करेला खाने से डायरिया होने का खतरा बढ़ जाता है.

वैसे डायबिटीज के मरीज करेले का अधिक सेवन करते हैं. लेकिन एक निश्चित मात्रा से अधिक करेला खाने से नुकसान होना तय है. क्यों कि करेले के सेवन से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है. आपको घबराहट होने लगती है. करेला खाने से हीमोलाइटिक एनीमिया की समस्या भी हो सकती है. इस स्थिति में पेट दर्द, सिर दर्द या बुखार जैसी बीमारियां हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें- LED से निकलने वाली नीली रौशनी से हो सकता है कैंसर, शोध में हुआ खुलासा

 

 

First published: 29 April 2018, 16:48 IST
 
अगली कहानी