Home » Lok Sabha Elections 2019 » Ahmedabad Court summons Rahul Gandhi in defamation suit for calling BJP president Amit Shah Murder-accused
 

राहुल गांधी की बढ़ी मुश्किल, चुनाव आयोग के नोटिस के बाद कोर्ट से मिला समन

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2019, 9:12 IST

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ गई हैं. अहमदाबाद की एक अदालत ने राहुल गांधी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को हत्यारोपी करने के मामले में समन जारी किया है. अमित शाह को हत्यारोपी करने को लेकर बीजेपी के एक कार्यकर्ता की ओर से राहुुल गांधी के खिलाफ कोर्ट में आपराधिक मानहानि की शिकायत की थी. जिसपर कार्रवाई करते हुए कोर्ट ने बुधवार को राहुल गांधी को समन जारी किया. वहीं  चुनाव आयोग ने भी राहुल गांधी को पीएम मोदी पर टिप्पणी करने को एक नोटिस भेजा है.

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट डीएस डाबी ने राहुल गांधी को समन जारी कर 6 जुलाई तक जवाब मांगा है. समन में कहा गया है कि राहुल गांधी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 500 के तहत पहली नजर में आपराधिक मानहानि का मामला बनता है.

बता दें कि बीजेपी के स्थानीय पार्षद कृष्णवदन ब्रह्मभट्ट ने कोर्ट में की अपनी शिकायत में कहा कि, 23 अप्रैल को मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि, "हत्यारोपी बीजेपी प्रमुख अमित शाह, वाह! क्या शान है.”

कोर्ट के समन के अलावा राहुल गांधी को चुनाव आयोग ने भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है. ये नोटिस राहुल गांधी को उनकी कथित टिप्पणी को लेकर जारी किया गया है. जिसमें राहुल गांधी ने कहा था कि नरेंद्र मोदी सरकार ने एक नया कानून बनाया है जिसके तहत आदिवासियों को गोली मारी जा सकती है.

आयोग ने 23 अप्रैल को मध्यप्रदेश के शहडोल में दिए गए राहुल गांधी के भाषण का हवाला देते हुए कहा है कि आदर्श आचार संहिता के प्रावधान राजनीतिक विरोधियों पर ‘असत्यापित’ आरोप लगाने पर रोक लगाते हैं. चुनाव आयोग ने राहुल गांधी को 48 घंटे के अंदर नोटिस का जवाब देने को कहा है. जवाब ना देने की स्थिति में कार्रवाई करने की बात कही गई है.

साध्वी प्रज्ञा पर अगले 72 घंटे तक के लिए लगा बैन, नहीं कर पाएंगी चुनाव प्रचार

First published: 2 May 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी