Home » Lok Sabha Elections 2019 » Baba Ramdev will not joint oath ceremony of PM Modi this is the reason
 

PM मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल नहीं होंगे बाबा रामदेव, जानिए क्या है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 May 2019, 14:48 IST

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिले भारी जनसमर्थन के बाद एक बार फिर पीएम मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं. पीएम मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. मोदी के शपथ ग्रहण में दुनियाभर के देशों के राष्ट्राध्यक्ष शामिल होंगे, लेकिन योगगुरु बाबा रामदेव पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में शिरकत करने नहीं पहुंचेंगे. बाबा रामदेव को बीजेपी और पीएम मोदी का सबसे बड़ा समर्थक माना जाता है बावजूद इसके वह मोदी की शपथ ग्रहण में शामिल होने दिल्ली नहीं आएंगे.

मीडिया से रूबरू होते हुए रविवार को बाबा रामदेव ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे. उन्होंने कहा कि आचार्य बालकृष्ण देश दुनिया में पतंजलि का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. साल 2014 में भी पतंजलि की ओर से आचार्य बालकृष्ण ही शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे और इस बार भी आचार्य बालकृष्ण ही शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे. बाबा रामदेव ने कहा कि प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई नरेंद्र मोदी सरकार जन भावनाओं को समझते हुए देश के विकास को नया आयाम प्रदान करेगी.

योगगुरु रामदेव ने कहा कि मोदी सरकार के सामने विकास से संबंधित उम्मीदों पर काम करना बड़ी चुनौती है. उन्होंने कहा कि इन चुनौतियो के साथ ही धारा 370 35a को हटाना और राम मंदिर निर्माण, जनसंख्या नियंत्रण के लिए प्रभावी कानून बनाना भी किन्ही चुनौतियों से कम नहीं है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पहले भी जनआकांशाओं को पूरा किया है, रामदेव ने जनसंख्या नियंत्रण ना होने तक देश के मजबूत ना होने की बात कही और कहा कि अगले 50 साल में भी भारत की जनसंख्या डेढ़ सौ करोड़ पार नहीं होनी चाहिए.

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता के करीबी IPS अधिकारी राजीव कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी

First published: 26 May 2019, 14:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी