Home » Lok Sabha Elections 2019 » EC holds meeting on EVM and VVPAT slips counting on the demand of Opposition
 

EVM और VVPAT के मिलान की विपक्ष ने की मांग, आज बैठक करेगा चुनाव आयोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2019, 10:11 IST

लोकसभा चुनाव के परिणाम से पहले आए एग्जिट पोल में बीजेपी को बढ़त मिलने पर एक बार फिर से विपक्ष एकजुट हो गया है और चुनाव आयोग से ईवीएम से वीवीपैट स्लिप के मिलान की मांग कर रहा है. बता दें कि लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान समाप्त होते ही देशभर में कई हिस्सों से ईवीएम से जुड़ी खबरें और वीडियो आने के बाद विपक्षी दलों ने ईवीएम से छेड़खानी करने के आरोप लगाते हुए ईवीएम की सुरक्षा बढ़ाने के साथ ही वीवीपैट स्लिप के मिलान की मांग कर रहे हैं. हालांकि चुनाव आयोग ने मंगलवार को ही विपक्ष के इन आरोपों को नकार दिया.

चुनाव परिणाम से पहले ईवीएम और वीवीपीएटी के मुद्दे पर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बसपा, तृणमूल कांग्रेस समेत सभी प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने चुनाव आयोग का रुख किया है. विपक्ष के नेताओं ने चुनाव आयोग से मांग की कि वोटों की गिनती से पहले वीवीपीएटी की पर्चियों की गिनती की जाए. साथ ही वीवीपैट पर्ची और ईवीएम में समानता ना होने पर पूरी विधानसभा के वीवीपीएटी के पर्चियों की गिनती की जाए.

बता दें कि लोकसभा चुनाव के दौरान विपक्ष की 21 पार्टियों ने हर सीट से 50 फीसदी EVM मशीनों के VVPAT की स्लिप के मिलान की मांग की थी. जिसके लिए विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. जिसे शीर्ष कोर्ट ने अव्यवहारिक मानते हुए कहा कि, "याचिका में जो मांग की गई है, उससे मौजूदा मिलान प्रक्रिया 125 गुणा बढ़ जाएगी. ये पूरी तरह अव्यवहारिक होगा. लेकिन फिर भी हम इस दलील से सहमत हैं कि चुनाव प्रक्रिया को ज्यादा विश्वसनीय बनाने की कोशिश करनी चाहिए. उसके बाद कोर्ट ने हर विधानसभा क्षेत्र से 5 EVM मशीनों का VVPAT की स्लिप के मिलान का आदेश दिया था.

भारतीय सेना ने खुद मार गिराया अपना विमान! 6 जवान हुए थे शहीद

First published: 22 May 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी