Home » Lok Sabha Elections 2019 » Election Commission bars SP Leader Azam Khan from election campaigning for 48 hours for violation model code of conduct
 

आजम खान पर फिर चला चुनाव आयोग का डंडा, चुनाव प्रचार पर लगाई रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2019, 8:12 IST

समाजवादी नेता आजम खान पर एक बार फिर चुनाव आयोग ने सख्ती दिखाते हुए उनके चुनावी रैलियों में भाषण देने पर रोक लगा दी. चुनाव आयोग ने आजम खान के अगले 48 घंटों तक किसी भी जनसभा को संबोधित करने पर रोक लगा दी है. चुनाव आयोग ने खान पर आचार संहिता उल्लंघन के मामले में कार्रवाई की है. बता दें कि ये कोई पहली बार नहीं है जब चुनाव आयोग ने आजम खान के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए उनके भाषणों पर रोक लगाई हो. इससे पहले भी आजम खान पर इसी तरह की कार्रवाई हो चुकी है.

आजम खान पर चुनावी आयोग की ये कार्रवाई की समय सीमा आज सुबह छह बजे से शुरु हो गई है. बता दें कि आजम खान ने पिछले महीने की 7 तारीख को टांडा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कुछ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया था जिसको लेकर उनकी खूब आलोचना हुई थी. उसके बाद 16 अप्रैल को डीएम पर अमर्यादित टिप्पणी भरा एक वीडियो सामने आने पर आजम खान को लोगों ने आड़े हाथों लिया था. इस वीडियो में आजम डीएम के लिए तन्खैया जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते नजर आए थे. यही नहीं मायावती के समय में अधिकारियों की जी-हुजूरी को भी अमर्यादित शब्दों में बयां किया था.

चुनाव आयोग को इस वीडियो के बारे में जानकारी के बाद सूबे के मुख्य चुनाव अधिकारी ने रिपोर्ट तलब की थी. जिस पर डीएम आन्जनेय कुमार सिंह ने छह अप्रैल से लेकर अब तक के सभी मामलों की विस्तृत रिपोर्ट भेज दी. प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी ने यह रिपोर्ट मुख्य चुनाव आयुक्त को भेज दी. जिस पर 16 अप्रैल को आजाम खान को नोटिस जारी कर 24 घंटे में जवाब देने को कहा गया. उसके बाद आजम खां ने अपने वकील के माध्यम से नोटिस का जवाब दिया लेकिन आयोग उनके जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ. उसके बाद चुनाव आयोग ने 30 अप्रैल को आजम खान के चुनाव प्रचार करने पर प्रतिबंध लगा दिया.

PM मोदी को चुनाव आयोग की क्लीन चिट, नहीं किया आचार संहिता का उल्लंघन

First published: 1 May 2019, 8:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी