Home » Lok Sabha Elections 2019 » Elections 2019: Congress to bring in single GST rate if voted to power
 

लोकसभा चुनाव 2019 : कांग्रेस अपने मेनिफेस्टो में GST को लेकर कर सकती है ये बड़ा वादा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 March 2019, 16:12 IST

भारत का मुख्य विपक्ष भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का कहना है कि अगर वह सत्ता में आयी तो जीएसटी की वर्तमान संरचना को समाप्त कर देगी और एकल जीएसटी दर को अपनाएगी. पार्टी का कहना है राहुल गांधी की अगुवाई वाली कांग्रेस पांच अलग-अलग जीएसटी दरों को एक यानी 18 फीसदी वाली दर प्रतिशत में विलय करने की घोषणा करेगी.

कांग्रेस पार्टी जल्द अपने चुनावी मेनिफेस्टो में इस वादे को शामिल कर सकती है. मोदी की भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने 1 जुलाई 2017 को जीएसटी रोल आउट होने के बाद कई बार इसकी दरों में संसोधन किया है. जिसमें 1.3 बिलियन उपभोक्ताओं के साथ एकल बाजार बनाने के लिए एक दर्जन से अधिक लेवी की जगह ली.

मोदी सरकार द्वारा  लागू किये गए जीएसटी पर कांग्रेस के कई दिग्गज नेता सवाल उठाते रहे हैं. कांग्रेस पार्टी का कहना रहा है कि ये वह जीएसटी नहीं है जिसका सपना यूपीए सरकार ने देखा था. यही कारण है कि कांग्रेस पार्टी 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए अपने घोषणापत्र में एक संशोधित जीएसटी का वादा करने के लिए तैयार है.

 हालही में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सवाल उठाया कि जीएसटी शासन के घोषित लक्ष्यों में बदलाव का कारण क्या था, इसे बार -बार क्यों बदला जा रहा था. उन्होंने कहा "कल तक जीएसटी की सिंगल दर एक मूर्खतापूर्ण विचार था. अब यह सरकार का घोषित लक्ष्य है. कल तक जीएसटी की अधिकतम सीमा को 18 प्रतिशत तक बांधना अव्यावहारिक था. मगर, कल से कांग्रेस पार्टी की मुख्य मांग यानि 18 प्रतिशत कर सीमा सरकार का घोषित लक्ष्य है."

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, जो जीएसटी परिषद का नेतृत्व करते हैं, ने पांच कर स्लैब संरचना को अपनाया था. उन्होंने कहा था कि एक जीएसटी दर इस समय काम नहीं कर सकती है, लेकिन यह देश की कर व्यवस्था को और सरल कर सकता है और देश धीरे-धीरे एकल जीएसटी दर की ओर बढ़ सकता है.

मोदी के GST को खत्म करने का वादा 2019 के अपने चुनावी मेनिफेस्टो में करने जा रहे हैं राहुल गांधी !

मोदी द्वारा हर साल 1 करोड़ नौकरियों के अपने वादे को पूरा नहीं करने की विपक्ष लगातार आलोचना करता रहा है. यही एक था जिसने 2014 के लोकसभा चुनावों में भारत के युवाओं का दिल जीत लिया था. समय पर और विश्वसनीय डेटा के अभाव में रोजगार के सही आंकड़े सामने नहीं आ पाए.

ये 22 करोड़ वोट BJP को मिले तो मोदी को सत्ता में आने से कोई नहीं रोक पायेगा !

First published: 16 March 2019, 15:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी