Home » Lok Sabha Elections 2019 » Indian companies want their employees to vote and they’re pushing incentives
 

वोट डालने के लिए ये दिग्गज कंपनियां अपने कर्मचारियों को दे रही हैं खास छूट

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 April 2019, 16:42 IST

भारत चल रहे लोकसभा चुनावों में जहां राजनेता से लेकर सेलिब्रिटी तक वोट डालने की अपील कर रहे हैं वहीं देशभर में भी कई कंपनियां अपने कर्मचारियों को छुट्टी के साथ-साथ वोट डालने के लिए प्रेरित कर रही हैं. फ्लिपकार्ट, सैमसंग और स्विगी कर्मचारियों को वोट देने के लिए प्रोत्साहित करने वाली कंपनियों में से हैं.

Swiggy के #VoteKaroPhirSwiggyKaro अभियान ने अपने डिलीवरी सर्विस में काम करने वाले लोगों को मतदान करने का आग्रह किया है. जबकि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने एक सोशल मीडिया अभियान भी शुरू किया है. वॉलमार्ट के स्वामित्व वाले फ्लिपकार्ट ने कथित तौर पर अपने कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए मतदाता पंजीकरण शिविर लगाए हैं. शिविर न केवल पहली बार मतदाताओं को पंजीकृत करते हैं, बल्कि पंजीकरण को एक अलग निर्वाचन क्षेत्र में स्थानांतरित करने में भी मदद करते हैं.

 

कई कंपनियां अपने कर्मचारियों को चुनाव के दिन मतदान करने के लिए एक दिन की छुट्टी दे रही है. जिनमें सैमसंग, जुबिलेंट फूडवर्क्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, इंफोसिस, डेलॉइट, एक्सेंचर, एचएंडएम और टाइटन शामिल हैं. भारत के आम चुनावों के बीच यह प्रयास 11 अप्रैल को शुरू हुआ और 12 मई तक चलेगा.

कनाडा मतदाताओं को चुनाव के दिन मतदान के अधिकार का प्रयोग करने के लिए काम से तीन घंटे की छूट देता है, भारत में श्रमिकों के लिए मतदान के लिए समय को अनिवार्य करने वाले कानून नहीं हैं. भले ही 2014 के आम चुनाव के लिए सभी नौ चरणों में भारत में औसत चुनावी मतदान लगभग 66.40% रहा लेकिन अब तक का उच्चतम - ज्यादातर मतदाताओं को मतदान केंद्रों पर जाना और कार्य प्रतिबद्धताओं के कारण मतदान करना मुश्किल लगता है.

TCS के 50 साल पूरे होने पर कर्मचारियों को मिला ऐसा तोहफा कि लटक गए सबके चेहरे

First published: 16 April 2019, 16:42 IST
 
अगली कहानी