Home » Lok Sabha Elections 2019 » Lok Sabha Election Results Likely To Be Delayed, Reason - VVPATs
 

इस वजह से 23 नहीं 24 मई को घोषित हो सकते हैं लोकसभा चुनाव के रिजल्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2019, 18:06 IST

23 मई को लोकसभा चुनाव परिणाम चार घंटे देरी से आने की उम्मीद है, यहां तक कि इसे 24 मई की सुबह तक घोषित किया जा सकता है. एक रिपोर्ट के अनुसार एक निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि अदालत ने मतदाता-सत्यापित पेपर ऑडिट ट्रेल या वीवीपीएटी गणना को एक के बजाय पांच तक बढ़ा दिया, जिस कारण यह देरी होगी. लोकसभा चुनाव 2019 में पहली बार वीवीपीएटी प्रणाली इस्तेमाल की जा रही है. इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन या ईवीएम को पर्ची बनाकर प्रत्येक वोट को रिकॉर्ड करने में सक्षम बनाती है.

रिपोर्ट के अनुसार उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन, जो VVPATs के प्रभारी हैं, ने न्यूज़ चैनल NDTV को बताया, "औसतन एक VVPAT का उपयोग करके मतों की गिनती में लगभग एक घंटे लगते हैं. पहले हम एक VVPAT की गिनती कर रहे थे, अब हम चार और जोड़ रहे हैं, जिसके लिए अतिरिक्त चार घंटे लग सकते हैं इसलिए परिणाम शाम तक या 24 मई सुबह तक नवीनतम होंगे."

 

अधिकारी ने बताया ''पहले हम एक VVPAT की गिनती कर रहे थे, अब हम चार और जोड़ रहे हैं, जिसके लिए अतिरिक्त चार घंटे लग सकते हैं इसलिए परिणाम शाम तक या 24 मई सुबह तक आ सकते हैं."उन्होंने कहा, "ईवीएम और वीवीपैट सही हैं और हमें इसमें कोई संदेह नहीं है.

हालही में इक्कीस विपक्षी दलों ने कम से कम 25 प्रतिशत ईवीएम पेपर ट्रेल मशीनों की गिनती के लिए कहा था, लेकिन 8 अप्रैल को एक सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग ने याचिका खारिज कर दी थी जिसमें कहा गया था कि इससे लोकसभा चुनाव के परिणाम 50 दिनों तक देरी हो सकती है. सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव निकाय से कहा था कि वीवीपीएटी मशीनों की संख्या एक से बढ़ाकर सिर्फ पांच की जाए.

 भारत के चुनावों में WhatsApp के इस्तेमाल पर पर रॉयटर्स का खुलासा, ऐसे हुआ दुरूपयोग

First published: 15 May 2019, 18:04 IST
 
अगली कहानी