Home » Lok Sabha Elections 2019 » Lok Sabha Elections 2019: BJP MP Poonam Mahajan assets decrease 98 percent from 2014
 

मोदी 'राज' में कंगाल हुई BJP की यह महिला सांसद, 5 साल में संपत्ति पहुंची आसमान से जमीन पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2019, 17:11 IST

जहां एक तरफ विधायक, सांसद बनने के बाद नेताओं की संपत्ति में पांच साल के कार्यकाल में अकूत वृद्धि होती है वहीं मोदीराज में बीजेपी की एक महिला सांसद कंगाल हो गई हैं. आलम यह कि पीएम नरेंद्र मोदी के पांच साल के कार्यकाल में इस महिला सांसद की संपत्ति में 98 प्रतिशत की कमी आ गई. ये महिला सांसद कोई और नहीं बल्कि बीजेपी के दिग्गज दिवंगत नेता प्रमोद महाजन की बेटी पूनम महाजन हैं. 

पूनम महाजन ने 5 अप्रैल को मुंबई के नॉर्थ सेंट्रल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया है. नामांकन के दौरान पूनम महाजन ने अपनी कुल संपत्ति 2.20 करोड़ रुपए दिखाई है. वहीं पिछले लोकसभा चुनाव यानि साल 2014 के लोकसभा चुनाव के नामांकन में पूनम महाजन ने अपनी कुल संपत्ति 108.08 करोड़ रुपए बताई थी.

2014 में पूनम ने अपनी संपत्ति घोषित करते हुए बताया था कि उनके पास 3 फ्लैट थे. पनवेल के नजदीक अप्टा गांव में उनके पास कृषि भूमि भी थी. साथ ही ऑडी क्यू5 और ऑडी क्यू7 जैसी लग्जरी कारें थीं.

इस तरह बीते 5 सालों में मोदी राज के दौरान उनकी संपत्ति में 98% की भारी-भरकम गिरावट दर्ज की गई.  पूनम ने इस बार अपने नामांकन में बताया है कि उनके पास 1.06 करोड़ रुपए की चल संपत्ति है. इसमें 75 लाख रुपए कैश, 22.02 लाख रुपए बैंक में और 72.91 लाख रुपए की इंश्योरेंस पॉलिसी हैं.

नामांकन पत्र के मुताबिक, उनके पति वजेंदला राव के पास 29,650 रुपए कैश, 13.41 लाख रुपये बैंक में और 95.74 लाख रुपए के पॉलिसीज हैं. पूनम के पति के पास करीब 5.28 लाख रुपए के शेयर भी हैं. वहीं उनके बेटे आद्या के खाते में 1.38 लाख रुपए जमा हैं. पूनम ने अपने नामांकन में बताया कि उनके पास 11.07 लाख रुपए की होंडा सीआरवी कार है. पूनम ने नामांकन में बताया कि उनके खिलाफ चेक बाउंस के 2 मामलों में केस लंबित हैं.

वहीं पूनम महाजन से जब उनकी संपत्ति में इतनी भारी गिरावट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने मीडिया को बताया कि उनके पति का ऑटोमोबाइल डीलर का बिजनेस है. इस बिजनेस में उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा है. इस कारण कर्ज चुकाने के लिए उन्हें अपनी संपत्ति बेचनी पड़ी. जिसके बाद उनके पास सिर्फ जीवन बीमा पॉलिसी के पैसे बचे हैं.

पूनम महाजन के नामांकन के दौरान मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष शेलार, महाराष्ट्र सरकार में शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े, केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले की पत्नी सीमा और शिवसेना तथा भाजपा के कई विधायक मौजूद रहे. 

राहुल ने आडवाणी को लेकर दिया विवादित बयान तो सुषमा स्वराज ने लगाई फटकार- 'सोच समझकर बोलना'

अखिलेश यादव का घोषणापत्र में वादा, सरकार बनी तो अमीर 'सवर्णों' पर लगाएंगे टैक्स

First published: 6 April 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी