Home » Lok Sabha Elections 2019 » Lok Sabha Elections 2019: Movement of EVM machines in UP-Bihar, Opposition target on EC
 

यूपी-बिहार में EVM की संदिग्ध आवाजाही का वीडियो वायरल, विपक्ष बोला- शक के घेरे में चुनाव आयोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 May 2019, 13:12 IST
(social media)

लोकसभा चुनाव 2019 के रिजल्ट में दो दिन का समय बचा है. इससे पहले यूपी और बिहार मेंं ईवीएम मशीनों की संदिग्ध आवाजाही का वीडियो वायरल हो रहा है. इसके बाद ईवीएम को लेकर बवाल मच गया है. लालू यादव की पार्टी आरजेडी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर ट्वीट की है जिसमें आरोप लगाया गया है कि सारण और महाराजगंज लोकसभा सीट के स्ट्रॉंग रूम के आस-पास ईवीएम से भरी गाड़ी मंडरा रही थी.

इसके अलावा यूपी के गाजीपुर लोकसभा सीट पर गठबंधन के प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए. उन्होंने आरोप लगाया कि गाजीपुर लोकसभा के अंतर्गत 5 विधानसभा आती हैं और हर विधानसभा की ईवीएम 5 अलग-अलग जगहों पर रखी हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि गाड़ी से लाई गई कुछ ईवीएम काउंटिंग स्थल के एक अलग कमरे में रखे गए. हालांकि चुनाव आयोग का कहना है कि ये सारे आरोप बेबुनियाद हैं.

उत्तर प्रदेश के डुमरियागंज में भी सपा-बसपा कार्यकर्ताओं ने पिछले मंगलवार को ईवीएम से भरा एक मिनी ट्रक पकड़े जानेे की बात कही थी. आरोप था कि ट्रक को ईवीएम स्ट्रॉन्ग रूम से बाहर लाया जा रहा था. आरोप था कि भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ की है. 

हालांकि चुनाव आयोग ने मंगलवार को बयान जारी कर कहा कि सारे आरोप बेबुनियाद है और जहां भी समस्या थी, सभी मामलों को सुलझा लिया गया है. आयोग ने गाजीपुर को लेकर कहा कि यहां ईवीएम स्ट्रॉन्ग रूप पर निगरानी रखने संबंधित मुद्दा था, जिसे सुलझा लिया गया है. जबकि चंदौली पर चुनाव आयोग ने कहा कि कुछ लोगों ने आरोप लगाया था लेकिन ईवीएम उचित सुरक्षा में हैं और प्रोटोकॉल के तहत रखा गया है.

Exit Poll में बहुमत फिर क्यों डरी हुई है BJP ! अमित शाह कर रहे हैं ये काम

ऐश्वर्या राय को लेकर विवेक ओबेराय ने किया ऐसा ट्वीट, बन गई गले की फांस, गिरफ्तारी की मांग

First published: 21 May 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी