Home » Lok Sabha Elections 2019 » Lok Sabha Elections 2019: SP-BSP workers monitoring evm outside strong room in Meerut
 

स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर दूरबीन लेकर 'चौकीदार' बने सपा-बसपा कार्यकर्ता, टेंट लगाकर कर रहे निगरानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2019, 16:25 IST

मेरठ में स्ट्रॉन्ग रूम में रखी ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका के चलते सपा और बसपा के कार्यकर्ता दिन-रात निगरानी कर रहे हैं. यहां तक कि सपा-बसपा कार्यकर्ताओं ने स्ट्रॉंग रूम के बाहर तंबू लगा लिया है और इन तंबुओं में 24 घंटे डेरा डाल रखा है. कार्यकर्ता कैमरों और दूरबीन से ईवीएम की निगरानी कर रहे हैं.

मेरठ में महागठबंधन प्रत्याशी हाजी याकूब कुरैशी के समर्थक स्ट्रांग रूम पर नजर रखने के लिए टेंट लगाकर बैठे हैं. इस टेंट में उन्होंने दो एलईडी स्क्रीन लगा रखी है जो स्ट्रांग रूम के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की लाइव फीड दे रहे हैं. 

प्रशासन ने इन प्रत्याशियों को सीसीटीवी कैमरों की लाइव फीड देखने की अनुमति दी गै. खास बात यह है कि कार्यकर्ता स्ट्रांग रूम के आसपास की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए दूरबीन का इस्तेमाल कर रहे हैं. दिन और रात में दोनों तरह के विजन के लिए अलग-अलग दूरबीन उपलब्ध हैं. 

बता दें कि चुनाव आयोग ने विपक्षी पार्टियों द्वारा वीवीपीएटी पर्ची का ईवीएम के साथ मिलान की मांग को एक बार फिर ठुकरा दिया है. इसके बाद अब यह साफ हो चुका है कि मतगणना अपने समय से होगी.

इससे पहले मंगलवार को 22 विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग से मतगणना से पहले VVPAT-EVM का मिलान कराए जाने की मांग की थी. मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस समेत 22 प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने मंगलवार को चुनाव आयोग का रुख किया था. इन नेताओं ने चुनाव आयोग से आग्रह किया था कि मतगणना से पहले कुछ मतदान केंद्रों पर वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान कराया जाए.

विपक्ष को बड़ा झटका, चुनाव आयोग ने VVPAT पर्ची के मिलान की मांग को किया खारिज

मध्य प्रदेश: CM कमलनाथ का आरोप- कांग्रेस के विधायकों को 25 करोड़ का लालच दे रही है BJP

First published: 22 May 2019, 16:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी