Home » Lok Sabha Elections 2019 » lok sabha polls 2019 rahul dravid cant cast his vote
 

राहुल द्रविड़ चुनाव आयोग के ब्रांड एंबेसडर होने के बावजूद नहीं डाल पाएंगे वोट, जानें वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2019, 9:11 IST

लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान और कर्नाटक चुनाव आयोग के ब्रांड एंबेसडर राहुल द्रविड़ अपना मतदान नहीं कर पाएंगे. बताया जा रहा है कि राहुल द्रविड़ का मतदाता सूची में नाम नहीं है, इसलिए वे 18 अप्रैल को वोट नहीं कर पाएंगे. एक न्यूज चैनल को सीनियर पोलिंग ऑफिसर ने कहा, "राहुल द्रविड़ ने डेडलाइन खत्म होने से पहले ट्रांसफर होने के बाद मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन जमा नहीं किया."

बताया जा रहा है कि पहले राहुल द्रविड़ का नाम बैंगलोर सेंट्रल लोकसभा सीट से वोटर लिस्ट में नाम दर्ज था. यहां वे अपने पैतृक घर इंदिरा नगर में रहते थे. इसके बाद ये मलेश्वर शिफ्ट हो गए. शिफ्ट होने के बाद राहुल ने अपना नाम बैंगलोर सेंट्रल लोकसभा सीट की मतदाता सूची से नहीं हटवाया.

इस बारे में बेंगलुरू के नगर निगम के अधिकारी एल. सुरेश ने बताया, "द्रविड़ ने पूर्वी उपनगर में अपने माता पिता के घर से उत्तरी बेंगलुरू शिफ्ट होने के बाद मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज नहीं कराया है. मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाने की आखिरी तारीख 16 मार्च थी."

1 करोड़ रुपये मिलने की है गारंटी, 5 हजार करना होगा इस सरकारी स्कीम में निवेश

बता दें कि राहुल द्रविड़ को कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जनता को इंप्रेस करने के लिए चुनाव आयोग ने मई 2018 में ब्रांड एंबेसडर बनाया. मलेश्वरम शिफ्ट होने के बाद राहुल द्रविड़ का बैंगलोर सेंट्रल लोकसभा क्षेत्र की मतदाता सूची से नाम हटा दिया गया था, क्योंकि नगर निगम अधिकारियों को उनके भाई ने बताया कि वे उत्तरी बैंग्लोग शिफ्ट हो गए हैं.

मेनका गांधी ने फिर धमकी भरे लहजे में मांगे वोट, अब वोटर्स को समझाया ABCD का गणित

इस बारे में बीबीएमपी प्रमुख एन मंजूनाथ प्रसाद ने कहा कि चुनावी अधिकारी प्रक्रिया के दौरान राहुल द्रविड़ के नए घर सत्यापन के लिए तीन बार अधिकारी गए, लेकिन तीनों बार द्रविड़ विदेश दौरे पर थे, जिसकी वजह से उनके फॉर्म का सत्यापन नहीं हो पाया है.

First published: 15 April 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी