Home » Lok Sabha Elections 2019 » PM Modi’s Balakot remark prima facie violation: Poll officer
 

PM मोदी पर चल सकती है चुनाव आयोग की चाबुक, बालाकोट पर मांगे थे वोट

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2019, 10:03 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सप्ताह महाराष्ट्र के लातूर में पहली बार के वोटरों से उन बहादुर सैनिकों को अपना वोट समर्पित करने की अपील की, जिन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक की और साथ ही जो सैनिक पुलवामा में शहीद हुए. अब उस्मानाबाद जिला चुनाव अधिकारी (DEO) ने महाराष्ट्र के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को सौंपी अपनी रिपोर्ट में इसे प्रथम दृष्टि में अचार संहिता का उल्लंघन माना है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार अब यह मामला चुनाव आयोग के पास भेज दिया गया है और मामले पर अंतिम निर्णय आयोग के पास है. यदि चुनाव आयोग उस्मानाबाद डीईओ की राय से सहमत होता है तो मोदी से उनके इस बयान पर सफाई मांगी जाएगी. चुनाव आयोग के अधिकारियों ने संकेत दिया कि इस सप्ताह एक निर्णय होने की संभावना है.

19 मार्च को पोल पैनल ने सभी राजनीतिक दलों को लिखा था कि वे अपने नेताओं और उम्मीदवारों को सलाह दें कि वे अपने अभियान के तहत रक्षा बलों की गतिविधियों को शामिल करने वाला प्रचार न करें. इससे पहले 9 मार्च को आयोग ने राजनीतिक दलों को इसी तरह की एक एडवाइजरी जारी की थी जिसमें कहा गया था कि वे रक्षा कर्मियों की तस्वीरों या विज्ञापनों में रक्षा कर्मियों से जुड़े कार्यों की तस्वीरों या उनके चुनाव प्रचार का इस्तेमाल न करें.

डीआईओ के अनुसार मंगलवार को लातूर में एक रैली में मोदी की टिप्पणी निर्देशों का उल्लंघन है. रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा था ''मैं जरा कहना चाहता हूं मेरे फर्स्ट टाइम वाटरों से क्या आपका पहला वोट पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने वाले वीर जवानों के नाम समर्पित हो सकता है क्या ? मैं मेरे फर्स्ट टाइम वाटरों से कहना चाहता हूं कि आपका पहला वोट पुलवामा में जो शहीद हुए हैं उन वीर शहीदों के नाम आपका वोट समर्पित हो सकता है क्या ?''

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को चुनाव आयोग को पत्र लिखकर महाराष्ट्र में एक भाषण के दौरान बालाकोट हवाई हमलों और पुलवामा आतंकी हमले को लेकर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की मांग की थी.

First published: 11 April 2019, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी