Home » Lok Sabha Elections 2019 » Rahul Gandhi to replace NITI Aayog with planning commission
 

राहुल गांधी का एलान, सत्ता में लौटे तो खत्म कर देंगे नीति आयोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2019, 7:38 IST

राहुल गांधी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा है कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में लौटी को वह नीति आयोग को खत्म कर देंगे. हरियाणा के करनाल में शुक्रवार को परिवर्तन यात्रा में हिस्सा लेने पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीतकर सत्ता में आती है, तो वो नीति आयोग को भंग कर देंगे. उन्होंने कहा कि नीति आयोग को भंग करने के बाद योजना आयोग को बहाल किया जाएगा. राहुल गांधी ने कहा कि इसमें चुनिंदा अर्थशास्त्रियों और 100 से कम स्टाफ को रखा जाएगा.

कांग्रेस अध्यक्ष ने नीति आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा कि, इसने प्रधानमंत्री की मार्केटिंग करने और गलत आंकड़े देने के अलावा और कुछ नहीं किया है. बता दें कि सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने 1 जनवरी 2015 को योजना आयोग को भंग कर दिया था. इसके स्थान पर नीति आयोग का गठन किया गया था. जिसके अध्यक्ष खुद प्रधानमंत्री हैं.

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ये बयान ऐसे वक्त में आया है जब नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार चुनाव आचार संहित के मामले में फंसे हुए हैं. नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार को निर्वाचन आयोग की तरफ से जारी कारण बताओ नोटिस का जवाब देने के लिए दो अप्रैल तक का वक्त दिया गया है. बता दें कि राजीव कुमार ने कांग्रेस की न्यूनतम आय गारंटी के वादे के खिलाफ टिप्पणी की थी. जिसपर चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस जारी कर जवाब मांगा था.

शुक्रवार को करनाल में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले 15 लाख रुपये देने के वादे से उनको गरीबों के लिए न्याय यानी न्यूनतम आय योजना का विचार मिला. उन्होंने कहा कि देश के गरीबों के लिए कांग्रेस का चुनावी वादा ‘न्याय’ यानी न्यूनतम आय योजना ऐतिहासिक है. जब से इसकी घोषणा हुई है, तब से प्रधानमंत्री हिल गए हैं.

राहुल गांधी ने कहा कि न्याय योजना के तहत देश के 20 फीसदी गरीबों के बैंक खाते में हर साल 72 हजार रुपये जमा कराए जाएंगे. उन्होंने पीएम मोदी पर अमीरों की सुरक्षा करने का आरोप भी लगाया. राहुल ने कहा कि केंद्र सरकार कर्ज से लदे किसानों की मदद से बच रही है.

नीरव मोदी की जमानत अर्जी लंदन की अदालत में फिर हुई रिजेक्ट

First published: 30 March 2019, 7:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी