Home » Lok Sabha Elections 2019 » Retired bureaucrats wrote to EC to stop the release of PM Modi's biopic
 

PM मोदी की बायोपिक की रिलीज रोकने के लिए रिटायर नौकरशाहों ने EC को लिखा पत्र

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2019, 10:11 IST

सेवानिवृत्त सिविल सेवकों के एक समूह ने मंगलवार को चुनाव आयोग से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि लोकसभा चुनाव के लिए किसी भी उम्मीदवार की बायोपिक को चुनाव समाप्त होने तक सोशल मीडिया सहित अन्य प्लेटफार्मों पर प्रसारित करने की अनुमति न हो. पीएम मोदी की बायोपिक के रिलीज को लेकरउठ रहे सवालों के बाद यह कदम उठाया गया है.

ये बायोपिक 5 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है. पूर्व नौकरशाहों और राजनयिकों ने कहा कि न केवल इस फिल्म को चुनाव खत्म होने तक प्रसारित नहीं किया जाना चाहिए, बल्कि किसी भी उम्मीदवार से संबंधित ऐसी बायोपिक के रिलीज पर रोक लगा देनी चाहिए.
मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि फिल्म शुरू में 12 अप्रैल को रिलीज होने वाली थी, लेकिन तारीख एक हफ्ते आगे बढ़ गई थी.
संवैधानिक आचरण नाम से सेवानिवृत्त सिविल सेवकों के समूह ने पत्र में कहा: "आप इस बात को मानेंगे ऐसी फिल्म प्रधानमंत्री मोदी के लिए भारी चुनावी लाभ पैदा करेगी.

चुनाव की घोषणा के बाद इस बायोपिक के रिलीज़ होने और आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) के लागू होने के बाद स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के सिद्धांतों के अनुरूप होने की जांच आवश्यक है." पत्र में आगे कहा गया है कि आगामी चुनावों में किसी अन्य उम्मीदवार पर भी यही सिद्धांत लागू होगा. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी पर एक बायोपिक का भी उल्लेख है.पीएम मोदी पर रिलीज होने वाली बायोपिक में
शीर्ष भूमिका में विवेक ओबेरॉय पीएम नरेंद्र मोदी का किरदार निभा रहे हैं , जिसका ट्रेलर 20 मार्च को जारी किया गया था.

यूपी: ट्विटर पर 'दो गुजराती ठग' कहने वाले बीजेपी नेता को पार्टी ने निष्काषित किया

 

First published: 27 March 2019, 10:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी