Home » Lok Sabha Elections 2019 » The BJP's veteran leader also stole the ticket, the son did it further!
 

BJP के इस बुजुर्ग नेता को पहले से ही था अंदाजा कि कटने वाला है उनका टिकट ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2019, 10:34 IST

उत्तराखंड में पौड़ी संसदीय क्षेत्र से शुक्रवार को भाजपा प्रत्याशी तीरथ सिंह रावत ने अपना नामांकन दाखिल किया. तीरथ सिंह रावत के खिलाफ इस सीट पर कांग्रेस ने बीजेपी के दिग्गज नेता भुवन चंद्र खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी को मैदान में उतारा है.

रावत के नामांकन के दौरान कई बीजेपी नेता शामिल हुए लेकिन रावत के राजनीतिक माने जाने वाले भुवन चंद्र खंडूरी इस दौरान अनुपस्थित रहे. कई लोग इसे खंडूरी की नाराजगी के तौर पर देख रहे हैं, क्योंकि इस सीट पर बीजेपी ने खंडूरी की जगह तीरथ सिंह रावत को टिकट दिया है.

 

हालांकि रावत का दावा है कि खंडूरी का समर्थन उनके साथ है. उन्होंने कहा ''खंडूरीजी स्वास्थ्य कारणों से यहां नहीं आ पाये. मैं उनसे मिला था और उन्होंने मुझे अपना आशीर्वाद दिया है. वह मेरे समर्थन में यहां एक रैली जरूर करेंगे''.

कई लोगों का कहना है कि इस बात की आशंका मनीष खंडूरी को पहले से ही थी इसलिए उन्होंने इस सीट पर कांग्रेस से चुनाव लड़ने का फैसला किया. चर्चा तो यह भी है कि भुवन चंद्र खंडूरी ने ही बेटे को आगे किया है ताकि बीजेपी को पौड़ी लोकसभा सीट से अपनी ताकत का एहसास करवा सकें.

First published: 23 March 2019, 10:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी