Home » मध्य प्रदेश » Election commission disqualifies Mp Minister Narottam Mishra for submitting wrong information of election expenditure .
 

शिवराज के इस मंत्री को चुनाव आयोग ने किया अयोग्य घोषित

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 June 2017, 16:20 IST

मध्य प्रदेश में  के शिवराज सिंह चौहान सरकार में वरिष्ठ और तेजतर्रार मंत्री नरोत्तम मिश्र को चुनाव आयोग ने अयोग्य घोषित कर दिया. चुनाव आयोग ने उनके 3 साल तक चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी है. इस वजह से मिश्र अगला विधानसभा चुनाव भी नहीं लड़ पाएंगे. उन पर 2008 के चुनाव के दौरान पेड न्यूज के आरोप लगाए गए थे.

 

कांग्रेस विधायक ने लगाए आरोप

कांग्रेस के पूर्व विधायक राजेंद्र भारती ने नरोत्तम मिश्रा पर 2008 के चुनावों के दौरान करप्ट प्रैक्टिस और पेड न्यूज का आरोप लगाया था. चुनाव आयोग ने जनवरी 2013 में नोटिस जारी कर नरोत्तम मिश्रा से जवाब मांगा था. कांग्रेस विधायक की 2009 में की गई शिकायत पर शनिवार को ये फैसला आया.

नरोत्तम मिश्रा ने ग्वालियर हाईकोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया था, लेकिन उन्हें वहां से भी राहत नहीं मिली थी. इसके बाद वह सुप्रीम कोर्ट भी गए, लेकिन उन्हें वहां से भी राहत नहीं मिल पाई.

शिवराज को लगा बडा़ झटका 

नरोत्तम मिश्र की तेजी और जनसंपर्क कौशल को ध्यान में रखते हुए ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनको जन संपर्क विभाग की भी ज़िम्मेदारी दी थी. उनकी हैसियत पार्टी में दो नंबर की थी. अगले साल होने वाले मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आए चुनाव आयोग का यह आदेश शिवराज सिंह के लिए बड़ा झटका है. मध्य प्रदेश में 2018 के दिसंबर में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं. 

First published: 24 June 2017, 16:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी