Home » मध्य प्रदेश » farmer protestors turned violent in MP, state asked for extra force from centre
 

मंदसौर हिंसा: MP में बिगड़े हालात, मोदी सरकार से तत्काल फोर्स की मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2017, 17:04 IST

मध्य प्रदेश के मंदसौर में फायरिंग में छह किसानों की मौत के बाद हालात बिगड़ते जा रहे हैं. राज्य के गृह मंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिखकर अतिरिक्त सुरक्षाबलों की मांग की है.

गृह राज्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक नीमच, मंदसौर, देवास, उज्जैन और आस-पास के ज़िलों में हालात बिगड़ रहे हैं. लिहाज़ा, सतर्कता बरतते हुए केंद्र सरकार से अतिरिक्त पुलिसबल की मांग की गई है.

मंगलवार को मंदसौर में 6 किसानों की मौत के बाद से किसान आंदोलन ने राज्य में कई जगह हिंसक रूप ले लिया है. किसान संगठनों ने बुधवार को राज्य में बंद का एलान किया था. ऐसे में प्रदर्शनकारियों के अलावा अब आम लोग भी इससे प्रभावित होना शुरू हो गए हैं. 

देवास में फूंकी बस

बंदी होने के बावजूद सुबह से ही कई जिलों में पथराव और आगजनी की ख़बरें आ रही हैं. देवास के सोनकच्छ में एक सवारी बस को आग लगा दी गई है, जबकि पिपल्यामंडी में पांच और भानपुरा में कई दुकानें आग के हवाले कर दी गई हैं.

वहीं नीमच में आंदोलनकारियों ने पुलिस पथराव किया है. यहां कई प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों की बाइक को आग के हवाले कर दिया है. आंदोलनकारियों ने स्टेट हाईवे पर टायर जलाकर आवागमन बाधित कर दिया है. उज्जैन की बिजयागंज मंडी में किसानों ने एक ट्रक को फूंक दिया और पुलिस पर पथराव किया है. 

पीएम मोदी की मंत्रियों के साथ बैठक

इस बीच हालात को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी एक उच्च स्तरीय बैठक की है. सूत्रों के अनुसार-देश के कई हिस्सों में किसानों के प्रदर्शन और मंदसौर में हुई फायरिंग पर इसमें चर्चा हुई. गृहमंत्री राजनाथ सिंह के अलावा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह समेत कई वरिष्ठ मंत्री बैठक में शामिल हुए.

किसान आंदोलन के चलते रतलाम-नीमच लाइन पर असर पड़ा है. रतलाम-नीमच लाइन पर पटरियों को नुक़सान पहुंचाया गया. जिसके बाद यहां रेल यातायात बाधित हुआ है.

शिवराज ने की शांति की अपील

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर राज्य में हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है. शिवराज ने जनता से अपील की है कि वे शांति बनाए रखें और किसी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें.

मध्य प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और मंत्री गौरीशंकर बिसेन को प्रशासन ने मंदसौर पहुंचने से पहले ही रोक लिया. वहीं मंदसौर से सांसद रह चुकीं कांग्रेस नेता मीनाक्षी नटराजन को पीड़ित परिवारों से मिलने से पहले ही पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

First published: 7 June 2017, 17:04 IST
 
अगली कहानी