Home » मध्य प्रदेश » Jyotiraditya Scindia in trouble, investigation of land scam of 10 thousand crores started
 

मुश्किल में ज्योतिरादित्य सिंधिया, 10 हजार करोड़ के जमीन घोटाले की जांच फिर से शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 March 2020, 9:11 IST

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के सामने मुश्किल खड़ी हो गई है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (EWO) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के कथित जमीन घोटाले मामले में फिर से जांच शुरू कर दी है. सिंधिया पर 10 हजार करोड़ की जमीन के घोटाले का मामला है. इस मामले में उनपर एक ही जमीन को कई बार बेचने का आरोप है. उनपर सरकारी जमीन को भी बेचने का आरोप है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ग्वालियर में एक शिकायतकर्ता ने सिंधिया पर दस्तावेजों में हेरफेर कर 6,000 फुट की जमीन बेचने का आरोप लगाया था. रिपोर्ट के अनुसार ईओडब्लयू के अधिकारी ने कहा ''सुरेन्द्र श्रीवास्तव की शिकायत के तथ्यों को फिर से सत्यापित करने के आदेश दिए गए हैं.'’ सुरेंद्र श्रीवास्तव ने सिंधिया और उनके परिवार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई कि उन्होंने एक रजिस्ट्री दस्तावेज में हेरफेर कर वर्ष 2009 में ग्वालियर के महलगांव में 6,000 फुट जमीन उसे बेची. यह शिकायत 26 मार्च 2014 में की गई थी. हालांकि जांच 2018 में बंद हो गई थी.

इससे एक दिन पहले सिंधिया ने अपनी दादी राजमाता विजयाराजे सिंधिया और पिता दिवंगत माधवराव सिंधिया को याद किया. सिंधिया गुरुवार की शाम अपने गृह राज्य मध्य प्रदेश की अपनी पहली यात्रा पर भोपाल पहुंचे थे. सिंधिया का राजा भोज हवाई अड्डे से राज्य भाजपा मुख्यालय तक लगभग 13 किलोमीटर की दूरी पर शानदार स्वागत किया गया.

सिंधिया के साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान, राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा और अन्य लोग मौजूद थे. राज्य भाजपा मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं की एक सभा को संबोधित करते हुए सिंधिया ने कहा "जब भी सिंधिया परिवार के प्रमुख को चुनौती दी गई थी, चाहे वह 1967 में राजमाता विजयाराजे सिंधिया हों या 1990 में मेरे पिता माधवराव सिंधिया, जब उनके खिलाफ झूठे आरोप लगाए गए थे.

इस शाही महल में रहते हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया,लगा है 3500 किलो का झूमर,महल की खासियत सुनकर होश उड़ जाएंगे

First published: 13 March 2020, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी