Home » मध्य प्रदेश » Labourer become rich after three diamonds found in Panna Mine in Madhya Pradesh
 

रातोंरात बदल गई मजदूरों की किस्मत, खुदाई के दौरान जमीन में गड़ा मिला लाखों रुपये का खजाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 August 2020, 9:57 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

Three diamonds found in Panna Mine: कहते हैं किस्मत का कोई पता नहीं होता कब बदल जाए. ऐसा ही कुछ हुआ मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पन्ना जिले (Panna District) के कुछ मजदूूरों के साथ. जब खुदाई (excavation) के दौरान उन्हें जमीन ने तीन बेशकीमती हीरे (Diamonds) मिले. दरअसल, पन्ना जिले के जरुआपुर उथली खदान (Jaguapu Uthali Mine) में काम करते वक्त मजदूरों (Laourer) को बेशकीमती तीन हीरे मिले हैं. इन हीरों का वजन अलग-अलग 4.45, 2.16, 0.93 कैरेट बताया जा रहा है. इस तरह इन तीनों हीरों का कुल वजन 7.59 कैरेट बताया जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक, ये जेम क्वालिटी के हीरे हैं. इन तीनों हीरों की बाजार में कीमत 30 से 35 लाख रुपये आंकी गई है. फिलहाल, तीनों हीरों को पन्ना के हीरा कार्यालय में जमा कर दिया गया है. नीलामी के बाद रकम को मजदूरों में बांट दिया जाएगा. बता दें कि मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के जरुआपुर गांव में उथली हीरा खदान का है. इस गांव के रहने वाले मजदूर सवल सरदार को हीरा कार्यालय ने निजी क्षेत्र जरुआपुर में हीरा उत्खनन के लिए 8 गुणा 8 मीटर का पट्‌टा दिया गया था. इस खदान में मजदूर सवल सरदार काम कर रहा था. इसी दौरान उन्हें तीन हीरे मिले. 


इंसान ही नहीं जानवर भी करते हैं खाने के लिए संघर्ष, वीडियो में देखें खाने के लिए हिरण की मेहनत

सवल सरदार के साथ छह मजदूर और काम कर रहे थे. हीरा मिलते ही सभी खुशी से झूम उठे. उसके बाद इन हीरों के बारे में हीरा कार्यालय को जानकारी दी गई. उसके बाद इन्हें पन्ना के डायमंड कार्यालय में जमा करवा दिया गया. यहां पर हीरों की नीलामी के बाद इनकी रॉयल्टी काटकर शेष पैसे जमाकर्ता को दे दिया जाएगा. जिला हीरा अधिकारी आरके पांडेय ने मजदूरों को हीरा मिलने की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि सवल सरदार को 3 हीरे मिले हैं. उनका कुल वजन 7.52 कैरेट है. हीरा कार्यालय में जमा कर लिए हैं. इनकी नीलामी की जाएगी, नीलामी में जो रकम मिलेगी, उन्हें मजदूरों को दे दिया जाएगा.

Tiger Roaring Video : पिंजरे में बंद बाघ ने लगाई ऐसी दहाड़, वीडियो में देखें लोगों का फिर क्या हुआ हाल

सवल सरदार के मुताबिक, उन्हें 2 महीने की कड़ी मेहनत के बाद यह 3 हीरे मिले हैं. उन्होंने बताया कि हीरा कार्यालय में हीरों को जमा कर दिया गया है. सवल सरदार ने बताया कि इस खदान में उसके अलावा 5 अन्य साथी भी पार्टनर हैं, हीरा नीलामी में जो रकम मिलेगी उसे बराबर-बराबर बांट लेंगे. इसके बाद कोई अच्छा सा धंधा करेंगे. हीरा मिलने के बाद मजदूरों के यहां बधाई देने वालों तांता लगा हुआ है. बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश के उज्जैन में जमीन के नीचे खजाना मिलने की बात सामने आई थी.

Video: सिर पर दूध का गिलास रखकर तैरीं ओलिम्पिक चैम्पियन, रिजल्ट जानकर रह जाएंगे हैरान

प्रतीकात्मक फोटो

समुद्र किनारे पड़ा मिला रहस्यमी जीव का सड़ा हुआ शव, देखकर लोगों के उड़ गए होश

यहां के महिदपुर इलाके में एक पुराने घर की खुदाई के दौरान मजदूरों को बेशकीमती प्राचीन गहने और सोने-चांदी के सिक्कों से भरे दो घड़े मिले थे. बताया गया कि ये सिक्के और गहने करीब 100 साल पुराने हैं. महिदपुर के तहसीलदार विनोद शर्मा के मुताबिक, घाटी मोहल्ला इलाके का विजेंद्र दुबे नामक शख्स अपने पुराने घर को तोड़कर नया मकान बना रहा था. इस दौरान जब मजदूर घर की खुदाई कर रहे थे तो अचानक उन्हें जमीन में गड़े हुए तांबे के दो घड़े मिले. पहले तो घर के मालिक ने खजाना देखकर उसे छिपाने की कोशिश की लेकिन बाद में इसके बारे में सबको पता चल गया.

डायनासोर को भी होती थी इंसानों जैसी जानलेवा बीमारियां, 7.6 करोड़ साल पुरानी हड्डी के रिसर्च में सामने आई चौंकाने वाली बातें

First published: 7 August 2020, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी